तेलंगाना में बैंक की लाइन ने ले ली महिला की जान, गई थी सहायता राशि निकालने

Highlight

- महिला को बैंक की लाइन में कई घंटों तक पैसे निकालनेे का इंतजार करना पड़ा था

- राज्य सरकार से मिली 1500 रुपए की सहायता राशि को निकालने बैंक गई थी महिला

नई दिल्ली। लॉकडाउन में सरकार की ओर से दी जा रही सहायता राशि निकालने के लिए लोगों की लंबी कतारें लग रही हैं। तेलंगाना में शुक्रवार को ऐसी ही बैंक की एक कतार में बड़ा हादसा हो गया। घंटों से लाइन में लगी एक महिला बेहोश होकर गिर पड़ी और वहीं उसकी मौत हो गई। दरअसल, महिला राज्य सरकार की ओर से बैंक खातों में भेजी गई 1,500 रुपए की सहायता राशि निकालने गई थी।

अस्पताल के रास्ते में ही तोड़ दिया दम

यह दर्दनाक मामला राज्य के कामरेड्डी जिले के रामरेड्डी ब्लॉक से सामने आई है। मृतक की पहचान 45 वर्षीय अंगोत कमला के रूप में हुई है। वह तेलंगाना ग्रामीण बैंक से पैसे निकालने पहुंची थी। कतार में आगे पहुंच कर वह अपनी बारी का इंतजार कर ही रही थी, तभी अचानक वह बेहोश होकर गिर पड़ी। आननफानन में लोग उसे नजदीकी अस्पताल ले जाने लगे। लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। लोग आशंका जता रहे हैं कि महिला की मौत दिल का दौरा पड़ने के कारण हुई है।

मौत पर शुरू हुई राजनीति

महिला की मौत की खबर सामने आते ही इसपर राजनीति भी शुरू हो गई है। कांग्रेस नेता व पूर्व मंत्री मोहम्मद अली शब्बीर ने महिला की मौत के लिए राज्य सरकार को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि उन्हें पता चला है कि यह महिला दो दिनों से आ रही थी। वह दोनों दिन चिलचिलाती धूप में में घंटों कतार में खड़ी रही थी।

कांग्रेस नेता ने परिवार को दी आर्थिक मदद

पूर्व मंत्री शब्बीर ने राहत राशि खातिर जान गंवाने वाली कमला के परिजनों से मुलाकात की और उनकी आर्थिक मदद की। उन्होंने राज्य सरकार से पीड़ित परिवार को मौत का मुआवजा देने की मांग की है।

डेडलाइन के चलते बैंकों में लग रही है भीड़

आपको बता दें कि, स्वास्थ्य मंत्री एतला राजेंद्र ने गुरुवार को लोगों से तय तारीख और समय-सीमा में बैंक जाकर राहत राशि लेने की अपील की थी। इसके बाद से ही लोग जल्द से जल्द पैसे निकालने के लिए कतारों में लग रहे हैं।

Kapil Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned