जम्मू-कश्मीर: सोपोर के बोमई में हुर्रियत कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या, हत्यारों की तलाश में पुलिस

जम्मू-कश्मीर: सोपोर के बोमई में हुर्रियत कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या, हत्यारों की तलाश में पुलिस

इससे पहले भी फरवरी महीने में बडगाम जिले के बीरवाह इलाके में अज्ञात बंदूकधारियों ने एक अलगाववादी कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या कर दी थी।

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में एक तरफ तो नए डीजीपी दिलबाग सिंह के पद संभालते ही पत्थरबाजों पर पुलिस की सख्त कार्रवाई देखने को मिल रही है तो वहीं आतंकियों द्वारा घाटी में कत्लेआम अभी भी जारी है। शनिवार को जम्मू-कश्मीर के सोपोर के बोमई इलाके में कुछ संदिग्ध बंदूकधारियों ने एक हुर्रियत कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या कर दी। मरने वाले कार्यकर्ता की पहचान हकीम उर रहमान सुल्‍तानी के रूप में हुई है।

अस्पताल में रहमान सुल्तानी ने तोड़ा दम

जानकारी के मुताबिक, बंदूकधारी आतंकियों ने रहमान सुल्तानी को निशाना बनाते हुए ताबड़तोड़ गोलियां बरसाईं। इसके बाद उन्‍हें गंभीर हालत में सोपोर के अस्‍पताल में भर्ती कराया गया, जहां सुल्‍तानी की मौत हो गई। वहीं इस घटना में पुलिस हत्यारों की तलाश में जुट गई है। स्थानीय पुलिस मामले की जांच कर रही है।

पहले भी हो चुकी हैं हुर्रियत कार्यकर्ताओं की हत्याएं

आपको बता दें कि घाटी में हुर्रियत कार्यकर्ता की हत्या का ये कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी फरवरी महीने में बडगाम जिले के बीरवाह इलाके में अज्ञात बंदूकधारियों ने एक अलगाववादी कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या कर दी थी। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि हुर्रियत कांफ्रेंस के कार्यकर्ता मोहम्मद युसूफ राठेर की अज्ञात बंदूकधारियों ने चारंगम में गोली मारकर हत्या कर दी थी।

दिलबाग सिंह के डीजीपी बनते ही एक्शन में आई पुलिस

आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर में हाल ही में बड़ा प्रशासनिक बदलाव हुआ है। यहां जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीजीपी पद से एसपी वैद को हटाकर उनकी जगह दिलबाग सिंह को नई जिम्मेदारी दी गई है। शुक्रवार को ये बदलाव किया गया। दिलबाग सिंह के आते ही शनिवार से पुलिस ने घाटी में पत्थरबाजों की धरपकड़ के लिए एक नई रणनीति तैयार की। नई रणनीति के तहत पुलिस पत्थरबाजों पर सीधी कार्रवाई न कर उनको ट्रैप कर रही है।

भीड़ में शामिल होकर पत्थरबाजों को पकड़ रही है पुलिस

दरअसल, पुलिस पथराव के असली अपराधियों को पकड़ने के लिए पुलिस खुद पत्थरबाजों में शामिल हो रही है। इस बीच पुलिस असली गुनहगारों को पकड़ उन पर कार्रवाई कर रही है। इस फार्मूले पर ही काम करते हुए पुलिस ने दो ऐसे लोगों को पकड़ा है, जो प्रदर्शन के दौरान पत्थरबाजों की अगुवाई कर रहे थे।

Ad Block is Banned