जिस दिन एग्जाम था उस दिन गुजर गए थे पिता, फिर भी बेटे ने हासिल किए 100 में 100 नंबर

अनमोल ने 12वीं क्लास में 98.25% अंक प्राप्त किए

कोई भी मां-बाप अपने बच्चे से क्या चाहता है? यही न कि उसके बच्चे का भविष्य अच्छा हो... कि उसका बच्चा अच्छा पढ़-लिख जाए ताकि उसका अच्छा भविष्य हो सके। ऐसा ही कुछ चाहते थे अनमोल सिंह के पिता अनमोल से। अनमोल के पिता चाहते थे कि अनमोल अपने 12वीं के रिजल्ट में अच्छा परफॉर्म करें। अनमोल अच्छा परफॉर्म कर भी रहा था लेकिन अनमोल के पिता उसे बोर्ड एग्जाम्स में अकेला छोड़ कर चले गए। अनमोल के मैथ्स के एग्जाम से कुछ घंटे पहले ही अनमोल के पिता की मौत हो गई। इस सिचुएशन में अनमोल तो क्या, कोई भी नॉर्मल नहीं रह सकता। किसी अपने के मरने के बाद उसका हाल क्या होता है, यह बात सबको पता है। लेकिन अनमोल ने अपने पिता की मौत के कुछ घंटो बाद मैथ्स की परीक्षा दी। यही नहीं हाल ही में आए रिजल्ट में अनमोल ने मैथ्स सब्जेक्ट में 100 में 100 नंबर हासिल किए।

एक बात तो सबसे ज्यादा दिल को छू जाती है, वो ये है कि अनमोल के पिता को मैथ्स सब्जेक्ट सबसे ज्यादा पसंद था। ऐसे में अनमोल का उसी सब्जेक्ट में 100% स्कोर करना अपने पिता को एक श्रद्धांजलि देने जैसा है। 12वीं क्लास करियर की वो महत्वपूर्ण क्लास होती है। जो ये डिसाइड करती है कि बच्चे का भविष्य कैसा होगा। सीएमएस, कानपुर रोड के 12वीं क्लास में पढ़ने वाले अनमोल सिंह ने अपनी जिंदगी के सबसे खराब पलों में रहते हुए भी यह मुकाम हासिल किया। बता दें कि अनमोल को 12वीं में टोटल 98.25 प्रतिशत नंबर आए हैं। जिसमें से उन्होंने मैथ्स में फुल स्कोर किया है।

यही नहीं अनमोल ने जेईई मेन्स में क्वॉलिफाइ कर लिया है। अब वह आईआईटी में पढ़ना चाहते हैं। अनमोल ने बताया कि उनके पिता एक इंश्योरेंस कंपनी में काम करते थे। उनको हार्ट अटैक आया। उसके बाद उन्हें हॉस्पिटल में भी भर्ती कराया गया। मेरी मां ने मुझसे कहा कि तुम सिर्फ पढ़ाई पर फोकस करो बाकी हम सब देख लेंगे। लेकिन जिस दिन पेपर था उसी सुबह मेरी मां का फोन आया और उन्होंने कहा कि अब तुम्हारे पापा नहीं रहे। मुझे ऐसा लगा जैसे मेरी जिंदगी ही खत्म हो गई है। मैं तुरंत हॉस्पिटल पहुंचा। रो रो कर बुरा हाल था। मां ने कहा कि जाओ परीक्षा देकर आओ। मैंने जैसे तैसे अपनी परीक्षा दी। अपने पिता के लिए अनमोल ने बताया कि जब भी वह मैथ्स पढ़ने बैठता था, तो उसके पिता ही उसकी मदद किया करते थे।

Show More
Ravi Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned