scriptThe huge tectonic plate present in the Indian Ocean is divided into two parts! | दो हिस्सों में बंट रही हैं हिंद महासागर में मौजूद विशाल टेक्टोनिक प्लेट! पानी में बड़ी हलचल के बाद हुआ खुलासा | Patrika News

दो हिस्सों में बंट रही हैं हिंद महासागर में मौजूद विशाल टेक्टोनिक प्लेट! पानी में बड़ी हलचल के बाद हुआ खुलासा

Highlights

  • शोधकर्ताओं को भूकंप के बाद पता चली प्लेट टूटने की बात
  • टेक्टोनिक प्लेट को अलग होने में लगेंगे कई लाख साल
  • शोधकर्ता के अनुसार- एक पहेली की तरह है यह प्लेट

नई दिल्ली

Updated: May 25, 2020 04:13:53 pm

प्रकृति (Nature) अपना सिलसिला चलाए रखने के लिए आस-पास कई तरह के परिवर्तन करती रहती है। एक अध्ययन में यह खुलासा हुआ है कि हिंद महासागर (Indian Ocean) में मौजद विशाल टेक्टोनिक प्लेट (Tectonic Plates) टूटने वाली है और आने वाले समय में यह अपने आप दो हिस्सों में बंट जाएगी। हालांकि इंसानों के लिए इसे देख पाना संभव नहीं होगा। इसके दो हिस्सों में बंटने में काफी वक्त लगेगा। इस प्लेट को भारत-ऑस्ट्रेलिया-मकर टेक्टोनिक प्लेट (Indian-Australian and Eurasian tectonic plates) के तौर पर भी जाना जाता है। यह प्लेट बहुत ही धीरे-धीरे अलग हो रही है। एक साल में यह प्लेटट 0.06 इंच (1.7 मिलीमिटर) ही खिसक रही है।
tectonic.jpg
भूकंप के बाद पानी में हुई हलचल के बाद चला पता

लाइवसाइंस में छपी शोधकर्ता ऑरेली कॉड्यूरियर की रिपोर्ट में कहा गया है कि- यह एक संरचना नहीं है, जो तेजी से आगे बढ़ रही है। यह भी बाकी ग्रह सीमाओं की तरह ही महत्वपूर्ण है। प्लेट के अलग होने की रफ्तार इतनी धीमी है कि शुरुआत में शोधकर्ताओं को इसके बारे में पता ही नहीं चला। हिंद महासागर के एक अजीब से हिस्से में आए दो बड़े भूकंप और उसके बाद पानी में हुई हलचल के बाद शोधकर्ताओं को इसके बारे में संकेत मिले।
'एक पहेली की तरह है टेक्टोनिक प्लेट'

plates.jpgहिंद महासागर में इंडोनेशिया के पास 11 अप्रैल 2012 को 8.6 मैग्नीट्यूड और 8.2 मैग्नीट्यूड के दो भूकंप आए थे। भूकंप टेक्टोनिकल प्लेट के आसपास नहीं आए थे, बल्कि एक अलग जगह पर आए थे जो इस प्लेट के बीच में कहीं हैं। इसके बाद वैज्ञानिकों को लगा कि पानी के नीचे कुछ हलचल हो रही है। ऑरेली कॉड्यूरियर के अनुसार- 'यह चीज एक पहेली की तरह है। क्योंकि यह प्लेट एक समान नहीं है, बल्कि यह संख्या में तीन हैं, जो आपस में जुड़ी हुई हैं।
प्लेट को अलग होने में लगेंगे कई लाख साल!

खास बात यह है कि ये तीनों ही एक ही दिशा में आगे बढ़ रही हैं।' कॉड्यूरियर-कर्वूर ने इस बात का उल्लेख भी किया है कि प्लेट पर बना फ्रैक्चर जोन भूकंप के कारण नहीं बना। यह दरार निष्क्रिय दरारें, पृथ्वी कर्वेचर की कारण बनी हैं। अध्ययनकर्ताओं के अनुसार- इन प्‍लेटों को अलग होने में कई लाख साल लगेंगे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी मस्जिद केसः सुप्रीम कोर्ट का सुझाव, मामला जिला जज के पास भेजा जाए, सभी पक्षों के हित सुरक्षित रखे जाएंशिक्षा मंत्री की बेटी को कलकत्ता हाई कोर्ट ने दिए बर्खास्त करने के निर्देश, लौटाना होगा 41 महीने का वेतनHyderabad Encounter Case: सुप्रीम कोर्ट के जांच आयोग ने हैदराबाद एनकाउंटर को बताया फर्जी, पुलिसकर्मी दोषी करारInflation Around World : महंगाई की मार, भारत से ज्यादा ब्रिटेन और अमरीका हैं लाचारपंजाब में दिल्ली का विकास मॉडल, CM भगवंत मान का ऐलान- 15 अगस्त को राज्य को मिलेंगे 75 नए मोहल्ला क्लीनिकराहुल गांधी ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, कहा - 'पैंगोंग झील के पास दूसरा पुल बना रहा चीन, सरकार सिर्फ निगरानी ही कर रही है'दो साल बाद अपनों के बीच पहुंचते ही आजम खान ने बयां किया दर्द, बोले- मेरे साथ जो-जो हुआ वो भूल नहीं सकतापहली बार Yogi आदित्यनाथ की तारीफ में बोले अखिलेश यादव 'यूपी में Technology'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.