मनमोहन सिंह ने पीएम नरेंद्र मोदी पर किए तीखे हमले, कहा नोटबंदी कोई बोल्ड फैसला नहीं

Navyavesh Navrahi

Publish: Dec, 07 2017 04:21:14 (IST)

Miscellenous India
मनमोहन सिंह ने पीएम नरेंद्र मोदी पर किए तीखे हमले, कहा नोटबंदी कोई बोल्ड फैसला नहीं

जीएसटी को भी सही ढंग से लागू न करने का आरोप लगाया।

वरिष्ठ कांग्रेस नेता तथा पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने केंद्र सरकार की नीतियों को जमकर कोसा। विशेष रूप से उन्होंने केंद्र सरकार की ओर से लागू की गई नोटबंदी और जीएसटी को लेकर कड़ी आलोचना की। राजकोट में पत्रकारों के सवालों के जवाब देते हुए उन्होंने पीएम पर गुजरातियों का भरोसातोड़ने और उन्हें धोखा देेने का आरोप भी लगाया।

नोटबंदी काे कहा विनाशकारी
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने ये कहकर नोटबंदी लागू की थी कि इससे काले धन को लगाम लगेगी। लेकिन इस दाैरान बहुत सारे काले धन को सफेद कर लिया गया। पीएम इसे अपना साहसिक कदम बता रहे हैं। उन्हें साहसिक और विनाशकारी में अंतर है। नोटबंदी का कदम विनाशकारी सिद्ध हुआ है। उद्योगों की हालत बुरी हाे गई है। उन्होंने कहा कि गुजरात के लोगों ने नोटबंदी का समर्थन इसलिए किया कि शायद इससे देश को लाभ हो। लेकिन इसके जरिए कुछ खास लोगों ने अपना धन सफेद कर लिया। उन्होंने कहा कि अगर पीएम भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने का दावा करते हैं, तो उन्हें भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और उनके बेटे पर लगे आरोपों की जल्द से जल्द जांच करानी चाहिए।

फेल है गुजरात मॉडल
डॉ. सिंह ने नोटबंदी के साथ-साथ जीएसटी को भी गलत ढंग से लागू करने का आरोप पीएम मोदी पर लगाया। उन्होंन कहा कि जीएसटी अच्छा है। लेकिन इसे लागू करने के लिए मोदी सरकार ने पूरी तरह से होमवर्क नहीं किया। आनन-फानन में इसे लागू कर दिया। इससे अर्थव्यवस्था को बड़ा झटका लगा है। नोटंबंदी और जीएसटी के कारण जीडीपी वृद्धि दर में भारी गिरावट आई है। ये अभी तक संभल नहीं रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि गुजरात मॉडल भी फेल रहा है। लोग इसका विरोध कर रहे हैं। कश्मीर मुद्दे पर पूछे गए एक प्रश्न के उत्तर में डॉ मनमोहन सिंह ने कहा कि इस पर मोदी सरकार का रवैया सुरक्षा के लिए सही नहीं है। उन्होंने कहा कि एक वक्त तो कश्मीर में कड़े कदम उठाकर लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचाई जाती है। वहीं दूसरी ओर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से मिलने चले जाते हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned