इस शख्स ने पेश की इंसानियत की मिसाल, जो काम सरकार नहीं कर पाई वो इसने कर दिखाया

मारीमुत्थुजी ऐसे लोगों को कोचिंग देते हैं, जो सरकारी नौकरी की चाह रखते हैं।

By:

Published: 10 Feb 2018, 04:28 PM IST

नई दिल्ली। हमारे समाज में आज भी कुछ ऐसे लोग है जो कि केवल अपने लिए ही नहीं बल्कि दूसरों के लिए भी सोचते हैं। हम यहां बात कर रहे हैं के. मारीमुत्थु के बारे में जो कि पेशे से तहसीलदार है।

आपको बता दें कि मारीमुत्थुजी ने अपने प्रयासों के बलबूते पटाखे की फैक्ट्री और मिलों में काम करने वाले सौ से ज्यादा कर्मचारियों को मुफ्त में कोचिंग क्लास देते हैं और ऐसा करके वो उन्हें सरकारी नौकरी पाने में मदद करते हैं। सप्ताह के शनिवार और रविवार को मारीमुत्थुजी ऐसे लोगों को कोचिंग देते हैं, जो सरकारी नौकरी की चाह रखते हैं।

ये कर्मचारी ऐसे है जो कि बड़े-बड़े कोचिंग क्लासेस अटेंड नहं कर पाते हैं क्योंकि उनकी फीस बहुत ज्य़ादा होते हैं ऐसे में मारीमुत्थुजी द्वारा लिए गए क्लासेस उनकी मदद करते है। उनकी कोचिंग क्लासेज अटेंड करने लोग चेन्नई से भी आते हैं। अब तक मारीमुत्थुजी करीब 3000 लोगों को सरकारी नौकरी दिलाने में मदद की है जिनमें से 300 लोग तमिलनाडु के विरूधुनगर डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर के ऑफिस में ही काम करते हैं। उनके छात्र सी. रामामूर्ति जो कि एक ग्रामीण प्रशासनिक अधिकारी बन चुके हैं का कहना हैं कि वो मारीमुत्थु की पहली क्लास में जाने के बाद ही बहुत मोटिवेट हो गए थे।

उसके बाद उन्होंने सरकारी नौकरी की तैयारी शुरू कर दी और कुछ महीनों के अंदर ही उन्हें नौकरी के कई ऑफर्स मिलने शुरू हो गए।

मारीमुत्थुजी का कहना है कि लगभग हर प्रतियोगी परीक्षाओं में साइंस, मैथ्स, हिस्ट्री, तमिल, इंग्लिश ग्रामर और एप्टिट्यूड से जुड़े सवाल पूछे जाते हैं और अपने क्लास में वो इन्हीं के बारे में बताते हैं। पढ़ाने के अलावा वो अपने छात्रों को प्रेरित भी करते हैं।

मारीमुत्थुजी के कोचिंग में दसवी कक्षा से लेकर पीएचडी तक के छात्र आते हैं। उनके इस कोचिंग में हर शविवार और रविवार के दिन करीब 2000 लोग पढऩे आते हैं।

 

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned