तितली का कहर बरकरार: ओडिशा में भूस्खलन से 12 लोगों के मारे जाने की आशंका

तितली का कहर बरकरार: ओडिशा में भूस्खलन से 12 लोगों के मारे जाने की आशंका

अधिकारी ने कहा, 'गजपति जिले के रायगड़ा प्रखंड के अंतर्गत बरघारा गांव में भारी बारिश से हुए भूस्खलन के कारण करीब 12 लोगों के मरने की खबर है। हम खबरों की जांच कर रहे हैं।'

भुवनेश्वर। ओडिशा के गजपति जिले में तितली तूफान के बाद हुई भारी वर्षा के कारण हुए भूस्खलन में कम से कम 12 लोगों के मरने की आशंका है और जबकि चार लोग लापता हैं। घटना गजपति जिले के रायगडा प्रखंड के अंतर्गत बरघारा गांव की है। यहां भारी बारिश के बाद लोगों ने एक गुफा में शरण ले रखी थी, इसी दौरान वे हादसे का शिकार हो गए। विशेष राहत आयुक्त बिष्णुपदा सेठी ने कहा, 'गजपति जिले के रायगड़ा प्रखंड के अंतर्गत बरघारा गांव में भारी बारिश से हुए भूस्खलन के कारण करीब 12 लोगों के मरने की खबर है। हम खबरों की जांच कर रहे हैं।'

उन्होंने कहा कि बचाव टीम के घटनास्थल से लौटने के बाद ही मृतकों की संख्या की पुष्टि की जा सकती है। इस बीच, मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने हादसे पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने कहा, 'गजपति जिले में हुई भूस्खलन की घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। पीड़ित परिवारों के प्रति मैं गहरी संवदेना प्रकट करता हूं।' राज्य के मुख्य सचिव आदित्य प्रसाद पढ़ी ने कहा कि गजपति जिले के पुलिस निरीक्षक सहित, उप जिलाधीश, डॉक्टर और अन्य अधिकारियों की एक टीम घटनास्थल पर पहुंच चुकी है।

विपक्षी दलों द्वारा प्राकृतिक आपदा के खराब प्रबंधन और सरकारी दावे पर सवाल उठाने के बारे में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कहा, 'यदि विपक्षी दल आलोचना करना चाहते हैं, तो वे ऐसा कर सकते हैं। हम राहत एवं बचाव कार्यों में व्यस्त हैं।' उन्होंने कहा कि नुकसान का उचित मूल्यांकन करने के बाद राज्य सरकार केंद्र से सहायता की मांग करेगी।

Ad Block is Banned