Lockdown 2.0: नेशनल हाइवे पर 20 अप्रैल से फिर शुरू होगा टोल कलेक्शन, AIMTC ने किया विरोध

-केन्द्र सरकार ने भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ( NHAI ) को नेशनल हाइवे ( National Highwats ) पर टोल कलेक्शन के लिए अनुमति दे दी है।
-कोरोना वायरस ( Coronavirus ) के चलते 25 मार्च से नेशनल हाइवे पर टोल वसूली बंद कर दी थी। अब सरकार से अनुमति मिलने के बाद 20 अप्रैल से एक बार फिर टोल वसूली ( Toll Colletion ) शुरू हो जाएगी।
-ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस (AIMTC) ने 20 अप्रैल से टोल वसूली का विरोध किया है।

 

नई दिल्ली।
Lockdown 2.0: 20 अप्रैल से नेशनल हाइवे ( Toll Collection on NH ) पर फिर से टोल वसूली शुरू हो जाएगी। केन्द्र सरकार ने भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ( NHAI ) को नेशनल हाइवे ( National Highwats ) पर टोल कलेक्शन के लिए अनुमति दे दी है। बता दें कि कोरोना वायरस ( coronavirus ) के चलते 25 मार्च से नेशनल हाइवे पर टोल वसूली बंद कर दी थी। अब सरकार से अनुमति मिलने के बाद 20 अप्रैल से एक बार फिर टोल वसूली शुरू हो जाएगी। इससे पहले 15 अप्रैल से टोल शुरू करने की योजना थी, लेकिन लॉकडाउन को आगे 3 मई तक बढ़ा दिया। इस वजह से टोल वसूली शुरू नहीं हो सकी। अब गृह मंत्रालय ( Home Ministry ) ने कई आवश्यक उद्योगों को 20 अप्रैल से दोबारा शुरू करने के लिए छूट दी है।

लॉकडाउन 2.0: महाराष्ट्र सरकार का बड़ा फैसला, एक लाख से ज्यादा मजदूरों को भेजा जाएगा गांव

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने NHAI को लिखे एक पत्र में कहा है, टोल शुल्क संग्रह सरकारी खजाने में योगदान देता है। 20 अप्रैल से सामान ले जाने वाले ट्रकों और अन्य वाहनों के आवागमन की छूट दे दी है। गृह मंत्रालय के आदेशों की पालन करते हुए NHAI द्वारा 20 अप्रैल से टोल संग्रह शुरू किया जाएगा।

टोल वसूली का विरोध
ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस (AIMTC) ने 20 अप्रैल से टोल वसूली का विरोध किया है। ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस (एआईएमटीसी) के अध्यक्ष कुलतारन सिंह अटवाल ने एक सख्त टिप्पणी में कहा कि एक तरफ सरकार आवश्यक सेवाओं की आपूर्ति सुनिश्चित करना चाहती है। वहीं, मौजूदा परिस्थितियों में ठप हो चुके ट्रांसपोर्ट कारोबार को रियायत देने को भी तैयान नहीं है। सरकार को इस क्षेत्र पर कोई वित्तीय बोझ डालने से पहले अपने फैसले पर पुनर्विचार करना चाहिए।

लॉकडाउन : 11 दिन में घरेलू हिंसा के 92 केस आए सामने, हाईकोर्ट पहुंचा मामला

महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा मामले ( Coronavirus in Maharashtra )

गौरतलब है कि देश में कोरोना के सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र से सामने आए है। महाराष्ट्र में अब तक इस महामारी से पीड़ितों की संख्या 3205 हो गई है। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस से सर्वाधिक 194 लोगों की मौत हुई है। देश की बात करें तो इनकी संख्या 14 हजार को पार गई है। वहीं, 430 से ज्यादा मौत हो चुकी है।

coronavirus
Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned