तीन तलाक : जानिए फैसले के दौरान कोर्ट रुम के अंदर क्या-क्या हुआ

By: Chandra Prakash

Updated: 22 Aug 2017, 02:56 PM IST

इंडिया की अन्‍य खबरें
1/2

नई दिल्ली। तीन तलाक पर देश की सबसे बड़ी अदालत ने सबसे बड़ा फैसला सुना दिया है। कोर्ट ने तीन तलाक खत्म कर दिया है। इसके साथ ही केंद्र सरकार से कहा यह धर्म से जुड़ा मामला है, इसलिए इसपर 6 महीने के अंदर इसपर कानून बनाना चाहिए, और कानून भी ऐसा जो राजनीति से ऊपर उठकर बनाया गया हो।


सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस्ट जेएस खेहर की अध्यक्षता में पांच जजों की बेंच ने जब अपना फैसला सुनाया तो देश की मुस्लिम महिलाएं नहीं लगभग हर तबका खुशी से झूम उठा।

तीन तलाक के फैसले पर पीएम मोदी ने कहा- मुस्लिम महिलाओं को मिलेगा बराबरी का हक

आइए अब हम आपको बताते हैं कि सुप्रीम कोर्ट के कमरा नंबर 1 में आखिर हुआ क्या:


सुबह 10.30: बजे चीफ जस्टिस खेहर समेत सभी 5 जज कोर्ट रुम में पहुंचे


सुबह 10.35: बजे चीफ जस्टिस खेहर ने अपना फैसला पढ़ना शुरु किया।


सुबह 10.45: बजे तक जस्टिस खेहर अपना फैसला पढ़ते रहे। इस दौरान उन्होंने कहा कि तीन तलाक असंवैधानिक नहीं है। तीन तलाक किसी भी तरह से आर्टिकल 14,15 और 21 का उल्लंघन नहीं है।


सुबह 11.00: बजे जस्टिस खेहर के बाद बाकी जजों ने बारी बारी से अपना फैसला सुनाया। जस्टिस आरएफ नरिमन, जस्टिस कुरियन जोसेफ और जस्टिस यूयू ललित ने तीन तलाक को असंवौधानिक बताया। इस तरह 3-2 के फैसले से एक साथ भारत में तीन तलाक खत्म हो गया।


पांच धर्मों के जजों ने सुनाया सबसे बड़ा फैसला
जस्टिस जेएस खेहर- सिख
स्टिस आरएफ नरिमन- पारसी
जस्टिस कुरियन जोसेफ- ईसाई
जस्टिस यूयू ललित- हिंदू
जस्टिस अब्दुल नजीर- मुस्लिम

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned