तूतीकोरिन में 5 दिनों तक इंटरनेट सेवा ठप, मरने वालों का आंकड़ा पहुंचा 13

तमिलनाडु के तूतीकोरिन में वेदांता स्टरलाइट कॉपर यूनिट के खिलाफ प्रदर्शन में मारे गए लोगों की संख्या बढ़कर 13 हुई

चेन्नई। तमिलनाडु का तूतीकोरिन जल रहा है। हिंसा में मरने वालों का आंकड़ा 13 पर पहुंच गया है। वहीं फायरिंग में 70 से ज्यादा लोग जख्मी हुए हैं, जिनका इलाज चल रहा है। साथ ही संवेदनशील इलाकों में भारी संख्या में पुलिसबल तैनात किया गया है।शहर में धारा 144 भी लागू है। तूतीकोरिन में 5 दिनों तक इंटरनेट सेवा पर रोक लगा दी गई है। अब तक इस मामले में 67 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।उधर प्रदर्शन में मारे गए लोगों को लेकर राज्य का मुख्य विपक्षी दल द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (डीएमके) ने राज्यभर में 25 मई को बंद का ऐलान किया। इसके साथ ही पार्टी वेदांता स्टरलाइट कॉपर यूनिट को हमेशा के लिए बंद करने का भी मुद्दा उठाएगी़। वहीं तमिलनाडु सरकार ने जिला कलेक्टर एन. वेंकाटेश और एसपी पी. महेंद्रन का ट्रांसफर कर दिया है।

सीएम बनते ही जोश में बोले कुमारस्‍वामी, 'येदियुरप्‍पा नहीं मैं माफ करूंगा किसानों का कर्ज'

HC ने दिया मारे गए लोगों के शव सुरक्षित रखने का आदेश

मद्रास हाई कोर्ट ने प्रदर्शन के दौरान मारे गए लोगों के शव सुरक्षित रखने के आदेश दिए हैं। हाई कोर्ट ने कहा है कि तूतीकोरिन में मारे गए लोगों के शव अगले आदेश तक सुरक्षित रखे जाएं।जस्टिस टी रविंद्रन व पी वेलमुरगन की अवकाश बेंच ने कहा कि राज्य सरकार 30 मई तक जवाबी हलफनामा दायर करें। तीन वकीलों की तरफ से दायर जनहित याचिका की सुनवाई के दौरान हाई कोर्ट ने यह फैसला दिया। इससे पहले डीएमके के नेता इस गोलीबारी की तुलना जलियांवाला बाग से कर चुके हैं। डीएमके ने सभी दलों से इस घटना के खिलाफ 25 मई को विरोध प्रदर्शन का आह्वान किया । आप को बता दें कि हिंसक प्रदर्शन के दौरान एक चौंकाना वाला वीडियो सामने आया था जिसमें एक पुलिसकर्मी बस की छत पर चढ़ कर प्रदर्शनकारियों पर बंदूक साधता नजर आया।

विपक्षी एकता: सोनिया को हुआ माया से प्‍यार तो ममता से बेरुखी क्‍यों?

Saif Ur Rehman
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned