जम्मू कश्मीर: आतंकी गोलीबारी में घायल हुए दो नागिरकों की मौत

मृतक मुस्कान जान आतंकवादियों के खुद्वानी इलाके में एक सैन्य शिविर पर हमले के दौरान घायल हो गई थी।

श्रीनगर। जम्मू एवं कश्मीर में आतंकी गोलीबारी में घायल हुई दो नागिरकों की मौत हो गई है। मरने वालों में एक 14 वर्षीय लड़की शामिल हैं। इलाज के दौरान दोनों की मौत हुई है।

जिंदगी से हार गई मुस्कान

कुलगाम जिले में इस सप्ताह की शुरुआत में गोलीबारी की घटना में घायल हुई लड़की की मौत हो गई है। वह 14 वर्ष की थी। शनिवार को यहां एक अस्पताल में उसकी मौत हो गई। पुलिस ने जानकारी दी कि गंभीर रूप से घायल मुस्कान जान ने एस.एम.एच.एस अस्पताल में दम तोड़ दिया। पुलिस ने कहा, "वह सीमा पार गोलीबारी में उस समय घायल हो गई थी जब गुरुवार को आतंकवादियों ने खुद्वानी इलाके में एक सैन्य शिविर पर हमला किया था।

दिल्ली: पुलिस और बांग्लादेशी गैंग के बीच बड़ी मुठभेड़, 5 गिरफ्तार

एक और नागिरक की मौत
एक अन्य नागरिकी की भी मौत हो गई। मृतक का नाम इशफाक अहमद है, वह मागरायपोरा बड़गाम निवासी नजीर अहमद गनी के पुत्र थे। अहमद को वेंटिलेटर पर रखा गया था। सुबह चार बजे उन्होंने अस्पताल में दम तोड़ दिया। सुपर स्पेशलिटी शेर-ए-कश्मीर इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (एसकेआईएमएस) के चिकित्सकों ने कहा कि गंभीर रूप से घायल इशफाक अहमद गनई जिसे शुक्रवार को भर्ती कराया गया था, उसने सुबह दम तोड़ दिया। बता दे कि इशफाक बड़गाम जिले के चटगाम इलाके में एक सेना शिविर के पास गोलीबारी की घटना में घायल हो गया था। सेना ने इन आरोपों को खारिज किया है कि शिविर में तैनात सिपाहियों ने उसे गोली मारी थी। उन्होंने कहा कि उसे शिविर से करीब 500 मीटर दूर आतंकवादियों द्वारा गोली मारी गई थी।

कश्मीर: आतंकवादियों ने पूर्व एसपीओ की हत्या की, पुलवामा से शव बरामद

SPO की हत्या

जम्मू एवं कश्मीर के शोपियां जिले में आतंकवादियों ने पूर्व विशेष पुलिस अधिकारी (एसपीओ) की हत्या कर दी। उन्हें इससे पहले अगवा कर लिया गया था। पुलिस का कहना है कि पूर्व एसपीओ बशरत अहमद का शव पुलवामा जिले से बरामद किया गया। उन्हें शुक्रवार को शोपियां जिले से बंदूकधारियों ने अगवा कर लिया था। आतंकवादियों ने जिन दो अन्य लोगों को भी अगवा किया गया था, उन्हें बिना नुकसान पहुंचाए रिहा कर दिया गया है। बीते 15 दिनों में बंदूकधारियों द्वारा लोगों को अगवा कर उनकी हत्या करने का यह तीसरा मामला है।

Show More
Saif Ur Rehman
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned