पांच राज्यों में भाजपा के लिए वोट न करने की अपील करेगा संयुक्त किसान मोर्चा, सरकार के रवैये के बारे में बताएगा

Highlights

  • भारतीय किसान यूनियन का कहना है कि मोर्चा किसी भी पार्टी का समर्थन नहीं करने वाली है।
  • योगेंद्र यादव का कहना है कि 10 ट्रेड संगठनों के साथ हमारी बैठक हुई है।

नई दिल्ली। देश के पांच राज्यों में अगले माह से विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। इन राज्यों में भाजपा मजबूती से चुनाव मैदान में उतरी है। इस बीच संयुक्त किसान मोर्चा ने ऐलान किया है कि वो पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव में भाजपा को वोट नहीं देने की अपील करेंगे।

भारतीय किसान यूनियन के बलबीर एस राजेवाल का कहना है कि हम पश्चिम बंगाल और केरल में चुनावों के लिए दल भेजेंगे। मोर्चा किसी भी पार्टी का समर्थन नहीं करने वाली है। मगर लोगों से अपील करते हैं कि वे उन उम्मीदवारों को मतदान दें जो भाजपा को हरा सकने में सक्षम है। उन्होंने कहा कि हम लोगों को किसानों के प्रति मोदी सरकार के रवैये के बारे में बताएंगे।

भाजपा ने कहा, कांग्रेस कोई भी गठबंधन कर ले उसका ‘डूब चुका जहाज’ अब बचने वाला नहीं

संयुक्त किसान मोर्चा के योगेंद्र यादव का कहना है कि 10 ट्रेड संगठनों के साथ हमारी बैठक हुई है। सरकार सार्वजनिक क्षेत्रों का जो निजीकरण कर रही है, उसके विरोध में 15 मार्च को पूरे देश के मजदूर और कर्मी सड़क पर उतरेंगे और रेलवे स्टेशनों के बाहर जाकर धरना प्रदर्शन करेंगे।

संयुक्त किसान मोर्चा के अनुसार सरकार की तरफ से इस आंदोलन को खत्म करने का प्रयास हुआ था। केंद्र सरकार में हरियाणा के जो तीन केंद्रीय मंत्री हैं, उन 3 केंद्रीय मंत्रियों का उनके गांव में प्रवेश पर रोक लगा दी जाएगी।

योगेंद्र यादव के अनुसार संयुक्त किसान मोर्चा की आज बैठक में हमने 15 मार्च तक कार्यक्रमों को अंतिम रूप दे दिया है। छह मार्च को किसान आंदोलन के सौ दिन पूरे होंगे। इस दिन किसान सुबह 11 बजे से शाम 4 बजे तक कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेसवे को अलग-अलग स्थानों पर रोकेंगे।

BJP
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned