अयोध्या मामले पर मोदी के मंत्री का बड़ा बयान, मंदिर-मस्जिद बनवाना राजनीतिक दलों का काम नहीं

अयोध्या मामले पर मोदी के मंत्री का बड़ा बयान, मंदिर-मस्जिद बनवाना राजनीतिक दलों का काम नहीं

उपेंद्र कुशवाह ने नीतीश कुमार के उपर भी निशाना साधा।

पटना। इस वक्त देश की सियासत में राम मंदिर का मुद्दा सबसे अहम है। संत समाज से लेकर तमाम राजनीतिक पार्टियों के नेताओं ने मंदिर निर्माण की अपील सरकार से की है। इस बीच एनडीए से खटास को लेकर सुर्खियों में बने हुए केंद्रीय मंत्री और राष्ट्रीय लोकसमता पार्टी (रालोसपा) के प्रमुख उपेंद्र कुशवाह ने राम मंदिर को लेकर बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि लोकसभा चुनाव से पहले अयोध्या में मंदिर बनाने का मुद्दा उठा लिया जाता है, जबकि मंदिर, मस्जिद बनवाना राजनीतिक दलों का काम नहीं है।

नीतीश कुमार पर साधा निशाना

आपको बता दें कि इन दिनों उपेंद्र कुशवाह एनडीए के साथ रिश्तों को लेकर लगातार सुर्खियों में हैं। गुरुवार को उपेंद्र कुशवाह ने पार्टी के चिंतन शिविर के बाद मोतिहारी में खुले अधिवेशन में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने बिहार में कथित 'नीतीश मॉडल' पर तंज कसते हुए कहा कि नीतीश मॉडल से बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर का सपना पूरा नहीं हो सकता।

कानून व्यवस्था पर बिहार सरकार पर घेरा

रालोसपा के वाल्मीकिनगर में दो दिवसीय राजनीतिक चिंतन शिविर के बाद गुरुवार को मोतिहारी में खुला अधिवेशन में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि शिक्षा के बिना विकास की बात करना बेईमानी है। उन्होंने नीतीश सरकार को निकम्मी सरकार बताते हुए कहा कि बिहार में आज जो कानून व्यवस्था की हालत है, वह पूर्ववर्ती लालू सरकार से भी बदतर हो गई है।

उन्होंने कहा कि पार्टी के चिंतन शिविर में वर्तमान सरकार को उखाड़ फेंकने का संकल्प लिया गया है, जिसमें रालोसपा के कार्यकर्ता आज से जुट गए हैं।

पीएम मोदी ने नहीं दिया मिलने का समय

रालोसपा प्रमुख ने एक बार फिर लोकसभा चुनाव के लिए सीट बंटवारे की चर्चा करते हुए कहा कि उन्होंने इस मामले को लेकर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने की कोशिश की थी, लेकिन मिलने का समय नहीं दिया गया।

Ad Block is Banned