उरी गैंगरेप-हत्या मामला: महबूबा मुफ्ती बोलीं- इस घटना से शर्मसार हुआ कश्मीर

उरी गैंगरेप-हत्या मामला: महबूबा मुफ्ती बोलीं- इस घटना से शर्मसार हुआ कश्मीर

उरी में सौतेली ने द्वारा बेटी का उसके ही भाई से गैंगरेप और हत्या करा दी गई। पूर्व सीएम ने कहा कि इस घटना से सामाजिक मूल्यों पर सवाल खड़ा हो गया है।

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर के उरी में नौ साल की बच्ची से सौतेली मां द्वारा अपने ही बेटे से बलात्कार की घटना से हर कोई हैरान है। राज्य पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने बलात्कार के बाद हत्या की इस घटना को शर्मनाक करार दिया है। उन्होंने कहा है कि इस घटना से राज्य के साझा सामाजिक मूल्यों पर सवाल खड़ा हो गया है।

बच्ची के परिवार से मुफ्ती ने की मुलाकात

बूनियार में पीड़िता के परिजनों से मुलाकात के बाद इस घटना में गहरा दुख जताते हुए कहा कि इसके दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। इस घटना से पीड़िता का परिवार सदमे में हैं और पूरा राज्य स्तब्ध है। उन्होंने कहा कि इस तरह की बर्बर घटना से राज्य के साझा सामाजिक मूल्यों पर सवाल खड़ा हो गया है। महबूबा ने कहा कि समय आ गया है कि हर कोई आत्मनिरीक्षण करे और इस घटना को अंजाम देने वाले शैतानों को कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग करे।

यह भी : रफाल सौदे पर अब केजरीवाल ने उठा सवाल, पूछा- इस घोटाले का पैसा किसकी जेब में गया

ऐसे बर्बर कृत्यों को कश्मीर नहीं करेगा : महबूबा

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की अध्यक्ष ने पीड़िता के परिवार को न्याय दिलाने में राज्य पुलिस की कोशिशों की सराहना करते हुए कहा कि पुलिस को दोषियों को पकड़ने में जनता से जो सहयोग मिल रहा है, वह इस बात का सबूत है कि ऐसे बर्बर कृत्यों को कश्मीरी समाज स्वीकार नहीं करेगा।

मां के सामने ने भाई ने दोस्तों के साथ किया बहन का रेप

बता दें कि बारामूला में एक नौ वर्षीय बच्ची से दुष्कर्म और उसकी हत्या के आरोप में पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है। हैरान करने वाली बात ये है कि इस भयानक अपराध में बच्ची की मां को भी दबोचा गया है। जिसपर आरोप है कि ईर्ष्या की वजह से मां ने भी हत्यारों की मदद की और अपने ही बेटे से बेटी का दुष्कर्म की इस घिनौनी वारदात को अंजाम दिया है। जांच के दौरान पुलिस ने पाया कि लड़की के पिता की दो पत्नी हैं और बच्ची झारखंड की महिला की बेटी है। उसकी पहली पत्नी फहमीदा अधिकतर समय घर से बाहर रहकर काम करती थी, जबकि दूसरी पत्नी खाना पकाने के लिए घर में रहती थी। पुलिस अधिकारी ने बताया कि फहमीदा अपने पति की दूसरी पत्नी गैर कश्मीरी खुशबू और उसकी बेटी से लंबे समय से नफरत करती थी क्योंकि उसे लगता था कि उसका पति अपनी दूसरी पत्नी से ज्यादा प्यार करता है। फहमीदा ने ईर्ष्या में आकर अपनी सौतेली बेटी को मारने की साजिश रची। 2 सितम्बर को लापता लड़की का शव उसके घर से एक किलोमीटर दूर सड़े-गले हालात में बरामद हुआ था। इम्तियाज हुसैन ने कहा कि सौतेली मां फहमीदा ही बच्ची जंगल ले गई और चार अन्य लोगों के साथ अपराध को अंजाम दिया जिसमें उसका 14 वर्षीय बेटा, उसका दोस्त कैसर अहमद (19), नासिर अहमद (28) व एक एक अन्य 14 वर्षीय लड़का शामिल था।

Ad Block is Banned