अमरीकी संस्था की डरावनी भविष्यवाणी, सितंबर के अंत तक भारत की 85 फीसदी आबादी होगी कोरोना संक्रमित

Highlight

- अमरीकी संस्था के मुताबिक, देश की 85 फीसदी आबादी कोरोना का शिकार होगी

- 130 करोड़ है देश की कुल आबादी

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ( coronavirus ) इस वक्त पूरी दुनिया में महामारी के रूप में फैल चुका है। कई देशों में ये भीषण रूप भी ले चुका है। भारत में भी कोरोना के केस 21 हजार के पार पहुंच चुके हैं। इस बीच अमरीका की एक संस्था ने भारत में कोरोना वायरस को लेकर डरा देने वाली भविष्यवाणी की है। अमरीका की सेंटर फॉर डिसीज, डायनेमिक्स ऐंड इकनॉमिक पॉलिसी (CDDEP) ने दावा किया है कि सितंबर के आखिर तक भारत में कोरोना वायरस के संगठित मामले 111 करोड़ तक जा सकते हैं, वह भी तब जब सख्त लॉकडाउन जारी रहे।

लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग के बावजूद बढ़ेगी मरीजों की संख्या

अमरीकी संस्था के दावे को अगर सच माना जाए तो सितंबर के अंत तक देश की 85 फीसदी आबादी कोरोना वायरस की चपेट में जाएगी। एक अंग्रेजी वेबसाइट ने अमरीकी संस्था की इस रिपोर्ट को पब्लिश किया है। 20 अप्रैल को जारी की गई इस रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में लॉकडाउन, सोशल डिस्टेंसिंग और आइसोलेशन को अपनाने के बाद भी भारत में सितंबर के आखिर तक कोरोना वायरस के संगठित रूप से संक्रमण के 111 करोड़ मामले हो सकते हैं। आपको बता दें कि देश की कुल आबादी 130 करोड़ है। ऐसे में आबादी का एक बड़ा हिस्सा कोरोना की चपेट में आ सकता है।

गलत भी साबित हो सकती है भविष्यवाणी!

रिपोर्ट में कहा गया है कि यह अनुमान उपलब्ध ताजा आंकड़ों पर आधारित है, लेकिन इसमें अभी भी अनिश्चितता का होना संभावित है। यानी अनुमान गलत भी साबित हो सकता है। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि फिलहाल जो सबूत मिल रहे हैं वे इस तरफ इशारा कर रहे हैं कि भारत की अच्छी-खासी आबादी में बिना लक्षण वाले या कम गंभीर संक्रमण के मामले दिख सकते हैं।

coronavirus fight against corona fight against coronavirus
Show More
Kapil Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned