अमरीकी विदेश और रक्षा मंत्री बुधवार को पहुंचेगे नई दिल्ली, 6 सितंबर को होगी टू प्लस टू वार्ता

अमरीकी विदेश और रक्षा मंत्री बुधवार को पहुंचेगे नई दिल्ली, 6 सितंबर को होगी टू प्लस टू वार्ता

छह सितंबर को होने वाली टू प्लस टू वार्ता में भारत अमरीका के सामने रूस से एस-400 मिसाइल खरीद का मुद्दा उठाएगा।

नई दिल्लीः भारत और अमरीका के बीच छह सितंबर को होने वाली टू प्लस टू वार्ता के लिए अमरीकी प्रतिनिधिमंडल बुधवार को भारत पहुंचेगा। इस प्रतिनिधिमंडल में अमरीकी विदेश मंत्री पॉम्पियो और रक्षा मंत्री जिम मैटिस भी भारत आ रहे हैं। ये दोनों अमरीकी मंत्री विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ बैठक करेंगे। इस दौरान दोनों देशों के विदेश और रक्षा सचिव भी शामिल रहेंगे। बैठक के दौरान रणनीतिक, सुरक्षा और रक्षा सहयोग को मजबूत बनाने पर चर्चा की जाएगी। बता दें कि टू प्लस टू वार्ता भारत और अमरीका के बीच पहली बार हो रही है। इससे पहले पिछले साल प्रधानमंत्री मोदी और अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच हुई मुलाकात के बाद इस वार्ता की घोषणा की गई थी।

भारत ने अमरीका को दिलाई आपसी संबंधों की याद
छह सितंबर को होने वाली टू प्लस टू वार्ता रणनीतिक दृष्टि से काफी अहम मानी जा रही है। क्योंकि भारत रूस के साथ एस-400 मिसाइल खरीद और ईरान के साथ तेल खरीद पर अड़ा हुआ है। अमरीका ने रूस और ईरान पर कई तरह के प्रतिबंध लगाए हैं जिसका सीधा असर भारत पर भी पड़ रहा है। ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि दोनों देशों के बीच इस वार्ता में रूस से रक्षा समझौता और ईरान से तेल खरीद का भी मुद्दा उठेगा। भारत ने उम्मीद जताई है कि अमरीका दोनों देशों के बीच रणनीतिक संबंधों को भूलेगा नहीं।

मार्च में होनी थी ये बैठक
दरअसल भारत और अमरीका के बीच के बीच टू प्लस टू वार्ता इसी साल मार्च महीने में होनी थी लेकिन अमरीका की तरफ से इस रद्द कर दिया गया था और नई तारीख छह सितंबर तय किया गया था। अमरीका की तरफ से कहा गया था कि राष्ट्रपति ट्रंप ने तत्कालीन विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन को पद से हटा दिया है, जिसकी वजह से वार्ता नहीं हो सकती।

Ad Block is Banned