बेनामी संपत्ति को लेकर वाड्रा से आठ घंटे चली पूछताछ, 23 हजार दस्तावेज कार्यालय से उठाए

Highlights

  • वाड्रा ने कहा कि उनसे जो भी सवाल किया गया, उन्होंने साफ-साफ जवाब दिया।
  • वाड्रा ने कहा कि इस पूछताछ का मकसद किसानों के आंदोलन जैसे अहम मुद्दों से ध्यान भटकाना है।

नई दिल्ली। बेनामी संपत्ति को लेकर आयकर विभाग के अधिकारियों ने मंगलवार को दोबारा सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा के घर पर पूछताछ की थी। पूछताछ करीब आठ घंटे तक चली थी। पूछताछ खत्म होने के बाद रॉबर्ट वाड्रा ने कहा कि अफसर मेरे कार्यालय से करीब 23 हजार दस्तावेज ले गए।

वाड्रा ने कहा कि आज आयकर अधिकारियों के पास मेरे बारे में मुझसे ज्यादा जानकारी है, जो अभी तक मेरे कार्यालय में रखी थी। वाड्रा ने कहा कि उनसे जो भी सवाल किया गया, उन्होंने साफ-साफ जवाब दिया। उन्होंने आगे कहा कि मैंने कोई कर चोरी नहीं की है।

आयकर विभाग ने सोमवार को बेनामी संपत्ति विरोधी कानून के तहत रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ जांच के मामले में उनसे पूछताछ की थी। 52 वर्षीय कारोबारी वाड्रा ने कहा कि इस पूछताछ का मकसद किसानों के आंदोलन जैसे अहम मुद्दों से ध्यान भटकाना है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार राजस्थान के बीकानेर में वाड्रा से संबंधित एक कंपनी द्वारा कुछ भूखंड खरीदे जाने के संदर्भ में पूछताछ की गई है।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned