एक्सप्रेसवे पर बढ़ी स्पीड लिमिटः अब 120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ेंगे वाहन

एक्सप्रेसवे पर बढ़ी स्पीड लिमिटः अब 120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ेंगे वाहन

टैक्सियों के लिए अधिकतम गति 100 सौ किमी प्रति घंटे हो गई है। पहले यह 80 किमी प्रति घंटा थी।

नई दिल्ली। सरकार ने एक्सप्रेस वे और राजमार्गों पर स्पीड लिमिट को लेकर नए मानक तय किए हैं। विदेशों की तरह देश की सड़कों पर वाहनों की स्पीड में बढ़ोतरी की गई है। सरकार ने एक्सप्रेस वे पर चलने वाले वाहनों की गति सीमा 100 किमी से बढ़ाकर 120 किमी प्रति घंटा कर दी है। जबकि टैक्सियों के लिए अधिकतम गति 100 सौ किमी प्रति घंटे हो गई है। पहले यह 80 किमी प्रति घंटा थी।

राष्ट्रीय राजमार्गों पर गति सीमा भी बढ़ी

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो राष्ट्रीय राजमार्गों पर गति सीमा को संशोधित कर दिया गया है। यहां पर कारों के लिए अधिकतम 100 किमी और न्यूनतम गति 20 किमी प्रति घंटा रखी गई है। इसी तरह से टैक्सियों के लिए अधिकतम 90 किमी और न्यूनतम 10 किमी प्रति घंटा तक की स्पीड लिमिट है। दोपहिया वाहनों और वाणिज्यिक वाहनों की गति सीमा अब 20 किमी प्रति घंटा तक बढ़ा दी गई है। यह गति अधिकतम 80 किमी प्रति घंटा तक हो गई है।

शहर की सड़कों पर समान गति सीमा

शहर की सड़कों पर व्यक्तिगत कारों और टैक्सियों की समान गति सीमा 70 किमी प्रति घंटे रखी गई है और दोपहिया वाहनों के लिए भी 40 किमी प्रति घंटे से 60 किमी प्रति घंटा रखी गई है। गौरलतब है कि यह गति सीमाएं केवल एक्सप्रेसवे और राष्ट्रीय राजमार्गों के कुछ हिस्सों पर लागू होती हैं। इसके साथ ये गति किसी भी शहर या गांव से गुजरने वाली सड़कों के लिए वैध नहीं है।

राजमार्गों के चौड़ीकरण का काम तेजी से
वाहनों की गति निर्धारित करने के लिए सभी हाईवे और एक्सप्रेस वे पर स्पीड डिटेक्टर्स लगाए गए हैं। इसकी मदद चालक के वाहनों की गति जांची जा सकती है। गौरतलब है कि देश के कई हिस्सों में सड़क निर्माण का कार्य काफी तेजी से चल रहा है। एक्सप्रेसवे और राष्ट्रीय राजमार्गों का चौड़ीकरण हो गया है। लोगों को सुविधा देने के लिए सरकार ने वाहनों की गति बढ़ाने के आदेश दिए हैं

Ad Block is Banned