गर्मी का रिकॉर्ड बनाने की ओर सितंबर, दिल्ली में बढ़ा रहा बेचैनी भयंकर

  • भारतीय मौसम विभाग ने दी जानकारी, बीते पांच सालों का सबसे गर्म महीना संभव।
  • ना तो पश्चिमी विक्षोभ और ना ही बादल, जिससे बारिश की नहीं है कोई संभावना।
  • दिन-रात का बढ़ता तापमान और 80 फीसदी आद्रता बढ़ा रही है लोगों की बेचैनी।

 

नई दिल्ली। पिछले कुछ दिनों से दिल्ली वालों को गर्मी के सितम का सामना करना पड़ रहा है। भारत मौसम विज्ञान विभाग के वैज्ञानिकों की मानें तो राजधानी दिल्ली में इस बार सितंबर का महीना पांच साल में सबसे गर्म दिखाई दे सकता है। दिन और रात के बढ़ते तापमान के साथ 80 फीसदी तक आद्रता बेचैनी बढ़ा रही है।

क्षेत्रीय मौसम पूर्वानुमान केंद्र, दिल्ली के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा, "वर्ष 2015 में महीने का औसत तापमान 36.1 डिग्री सेल्सियस था, इस बार यह 36 डिग्री सेल्सियस के आसपास हो सकता है। मानसून के गर्त का पश्चिमी छोर पिछले कुछ दिनों से हिमालय की तलहटी में है। पश्चिमी विक्षोभ या कम दबाव की कोई प्रणाली नहीं है जो दिल्ली तक चली गई है इसलिए बारिश भी नहीं हुई है। यहां पर बादल भी नहीं हैं और इसलिए यह नम और गर्म है। हम कल (मंगलवार) बहुत हल्की बारिश की उम्मीद कर रहे हैं।"

पिछले सप्ताह का तापमान

अगर बात करें पिछले सप्ताह की तो बीते 14 सितंबर को दिल्ली में अधिकतम तापमान 36.6 डिग्री जबकि न्यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। वहीं, 15 सितंबर को यह 37.4 और 26.8 डिग्री सेल्सियल, 16 सितंबर को 37.9 और 27.1 डिग्री, 17 सितंबर को 37 और 27.8 डिग्री, 18 सितंबर को 38 और 28 डिग्री, 19 सितंबर को 37.3 और 26.6 डिग्री जबकि 20 सितंबर को 36.8 और 26.6 डिग्री दर्ज किया गया।

तीखी धूप और गर्मी ने किया परेशान

बारिश में भारी कमी

दिल्ली में मानसून के मौसम में बारिश में 18 फीसदी और सितंबर में 62 फीसदी की कमी देखी गई है। 18 सितंबर को अधिकतम तापमान सामान्य से 3 डिग्री अधिक रहते हुए 38 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था। अधिकतम और न्यूनतम दोनों ही तापमान पिछले सप्ताह के लिए सामान्य से कम से कम 2 से 3 डिग्री अधिक रहे है, जिससे मौसम उमस भरा और असहज बना हुआ है।

बारिश संभव

बंगाल की खाड़ी के उत्तर-पश्चिम में एक कम दबाव का क्षेत्र बना है। इसके अगले 2-3 दिनों के दौरान पश्चिम-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और अगले 24 घंटों के दौरान अधिक स्पष्ट होने की संभावना है। इस निम्न दबाव वाले क्षेत्र के प्रभाव में 21 सितंबर को ओडिशा में, 21 और 22 सितंबर को गंगा तटीय पश्चिम बंगाल, झारखंड, बिहार, पूर्वी मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में व्यापक और भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है।

हाईटेक तैयारी में सरकार

केंद्र सरकार 250 करोड़ रुपये का एक ऐसा विमान सिस्टम खरीदने की तैयारी में है, जो देश के विभिन्न हिस्सों में मौसम के बारे में सटीक भविष्यवाणी करने में मदद करेगा। विज्ञान एवं प्रौद्यौगिकी पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय द्वारा इस विमान के खरीदने पर विचार किए जाने की जानकारी केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने लोकसभा में दी।

Weather forecast
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned