दिल्ली में पारा 40 के पार, 22 मई से उत्तर भारत में प्री-मानसून बारिश शुरू होने आसार

दिल्ली में पारा 40 के पार, 22 मई से उत्तर भारत में प्री-मानसून बारिश शुरू होने आसार

  • दिल्ली, पंजाब, हरियाणा में कल से मौसम में बदलाव की संभावना
  • दिल्ली में सोमवार को तापमान 41 डिग्री से पहुंचा ऊपर
  • प्री-मानसून बारिश के साथ आंधी-तूफान-बिजली चमकने के भी आसार

नई दिल्ली। अच्छी प्री-मानसून बारिश दर्ज करने के बाद दिल्ली-एनसीआर का मौसम थोड़ा साफ हुआ था। हालांकि बीते दो दिन से तेज धूप पड़ने के कारण गर्मी और पारा बढ़ा है। मौसम विभाग की मानें तो आने वाले कुछ दिनों में दिल्ली, पंजाब , हरियाणा में प्री-मानसून बारिश होगी और मौसम अच्छा होगा।

स्काईमेट वेदर के मुताबिक दिल्ली में तापमान धीरे-धीरे बढ़ रहा है। सोमवार को दिल्ली में तापमान 40 डिग्री सेल्सियस पार कर गया। पालम में पारा 41.2 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया तो सफदरजंग में इसने 40.3 के निशान को छुआ। मंगलवार को भी दिल्लीवालों को गर्म दोपहर का सामना करना पड़ सकता है।

उत्साहित भाजपा ने शुरू की जश्न की तैयारियां, आज एनडीए नेताओं को दावत

बढ़ते पारे के बीच दिल्लीवालों के लिए एक खुशखबरी भी है। मौसम विभाग के मुताबिक बुधवार 22 मई को यहां पर प्री-मानसून बारिश और धूल भरी आंधी चलेगी। दिल्ली-एनसीआर में 22 से 24 मई के बीच छुटपुट बारिश और बिजली चमकने के साथ आंधी-बारिश की संभावना जताई गई है। दिल्ली, नोएडा , गुरुग्राम, गाजियाबाद और फरीदाबाद में मौसम में बदलाव दिखेगा।

बारिश के बाद दिन के तापमान में गिरावट नजर आएगी। हालांकि यह गिरावट बहुत ज्यादा नहीं होगी क्योंकि प्री-मानसून बारिश बहुत ज्यादा नहीं होगी और यह हलचल दोपहर बाद या शाम को दिखेगी। राजधानी में प्रमुख रूप से गर्मी प्रभावित प्री-मानसून के चलते धूलभरी आंधी, बिजली, बारिश और गरज-चमक के साथ छीटें पड़ेंगी। दिल्ली में मई में अब तक केवल 22 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है जो सामान्य स्तर 31.5 मिलीमीटर से कम है।

वहीं, पंजाब-हरियाणा के कुछ हिस्सों में मंगलवार और बुधवार को मौसम में हल्का बदलाव आने की संभावना जताई गई है। जबकि 23 से 26 मई के बीच या फिर कहें कि 24-25 मई को पंजाब और हरियाणा के दक्षिणी हिस्सों समेत कई इलाकों में प्री-मानसून का असर दिखाई देगा।

फानी ही नहीं देश में हर बड़ी विपदा के नाम पर है बच्चों का नामकरण

आमतौर पर इस वक्त कम बारिश पाने वाले फजिल्का, हिसार, मुक्तसर साहिब, सिरसा, रोहतक समेत इन इलाकों में मानसून से पहले की बारिश पड़ने के आसार हैं। इसके साथ ही इन इलाकों में धूलभरी आंधी, बिजली, गरज-चमक के साथ छीटें पड़ने की भी संभावना है। मौसम विभाग के मुताबिक इस बारिश की वजह राजस्थान के पश्चिमी इलाकों में पश्चिमी विक्षोभ के चलते पड़ने वाला चक्रवाती प्रभाव है।

Indian Politics से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned