कोरोना काल के बीच बदल जाएगा प्रधानमंत्री के वेबसाइट की डिजाइन, शामिल होंगी 22 भाषाएं, जानिए क्या होंगे बदलाव

Highlights
- अब प्रधानमंत्री (PM Website) की वेबसाइट नए रूप रंग में दिखाई देगी
- भारत सरकार की ओर से जारी प्रस्ताव के अनुसार अब प्रधानमंत्री की आधिकारिक वेबसाइट को संयुक्त राष्ट्र (United Nations) की आधिकारिक भाषाओं (Official languages of the United Nations) और 22 भारतीय भाषाओं (Indian Language) में देखा जा सकेगा
- यह प्रस्ताव भारत सरकार की ओर से रखा गया है

नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के बीच भारत सरकार (Indian Government) की ओर से प्रधानमंत्री की आधिकारिक वेबसाइट (Prime Minister's official website) में कई बदलाव होने जा रहे हैं। अब प्रधानमंत्री (PM Website) की वेबसाइट नए रूप रंग में दिखाई देगी। भारत सरकार की ओर से जारी प्रस्ताव के अनुसार अब प्रधानमंत्री की आधिकारिक वेबसाइट को संयुक्त राष्ट्र (United Nations) की आधिकारिक भाषाओं (Official languages of the United Nations) और 22 भारतीय भाषाओं (Indian Language) में देखा जा सकेगा।

22 भाषाओं में होगी बेवसाइट

यह प्रस्ताव भारत सरकार की ओर से रखा गया है। जिसमें बताया गया कि इसमें भाषाओं की संख्या को बढ़ाया जाएगा। साथ ही एक अलग डिजाइन दिया जाएगा। बता दें कि इससे पहले प्रधानमंत्री की वेबसाइट को 12 भाषाओं में पढ़ा जा सकता था। बदलाव के बाद अब 22 भाषाओं में देखा जा सकेगा।

जानिए, कौन-कौन सी होंगी भाषाएं

6 संयुक्त राष्ट्र भाषाओं
- अरबी
- चीनी
- अंग्रेजी
- फ्रेंच
- रूसी
- स्पेनिश

22 भारतीय भाषाओं
- असमिया
- बंगाली
- बोडो
- डोगरी
- गुजराती
- हिंदी
- कन्नड़
- कश्मीरी
- कोंकणी
- मैथिली
- मलयालम
- मणिपुरी
- मराठी
- नेपाली
- उड़िया
- पंजाबी
- संस्कृत
- संथाली
- सिंधी
- तमिल
- तेलुगु
- उर्दू

अलग- अलग भाषाओं के होगे ऑप्शन

खास बात यह होगी कि नई वेबसाइट में एक ही ऑप्शन में अलग-अलग भाषाओं में जाने का ऑप्शन मिलेगा। जिसको जिस भाषा में सुविधा होगी वह उश भाषा में पढ़ सकेगा। सभी भाषाओं को प्रधानमंत्री के द्वारा सोशल मीडिया पर डाले जा रहे पोस्ट को शामिल किया जाएगा। वेबसाइट के लिए बनाए गए रिक्वेस्ट फॉर प्रपोजल यानी RFP में कहा गया है कि पोर्टल पर स्टैटिक और डायनामिक कंटेंट का अनुवाद होना चाहिए। प्रस्ताव में कहा गया है कि चयनित एजेंसी को अंग्रेजी या हिंदी में कंटेंट दिया जाएगा।

7 अगस्त तक होगा फाइनल

जानकारी के मुताबिक 30 जुलाई तक इसके लिए प्रपोजल दे सकते हैं, जबकि सात अगस्त तक प्रोजेक्ट को फाइनल किया जाएगा। राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस डिवीजन (NeGD) द्वारा दिये गये RFP के अनुसार, सरकार डिजाइन, डेवलपमेंट और वेबसाइटों के मेंटेनेंस के लिए एक योग्य और अनुभवी एजेंसी को काम पर रखना चाहती है।

कहा गया है कि 'एजेंसी को विस्तृत सॉफ्टवेयर स्पेसिफिकेशन तैयार करने, वेबसाइट के डेवलपमेंट और मेंटनेंस के लिए एंड-टू-एंड सर्विस और 22 आधिकारिक भारतीय भाषाओं समेत संयुक्त राष्ट्र की छह आधिकारिक भाषाओं में पीएम इंडिया पोर्टल को बनाने की आवश्यकता होगी।'

Ruchi Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned