जानिए कौन हैं अरिंदम भट्टाचार्य, जिन्होंने पार्टी छोड़ दिया है ममता को जोर का झटका

  • शांतिपुर विधायक अरिन्दम भट्टाचार्य ने बुधवार को नई दिल्ली में भाजपा का दामन थाम लिया
  • साल 2016 में अरिंदम ने कांग्रेस का प्रत्याशी रहते हुए शांतिपुर सीट पर TMC के अजॉय डे को हराया था

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में चुनाव से पहले ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी को एक के बाद एक झटके लग रहे हैं।बुधवार को एक और विधायक अरिंदम भट्टाचार्य टीएमसी को छोड़ बीजेपी में शामिल हो गए।अरिंदम के बीजेपी में शामिल होने के बाद भाजपा बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि अरिंदम भट्टाचार्य ने पीएम मोदी के नेतृत्व में भरोसा जताया है।विजयवर्गीय ने कहा कि भट्टाचार्य बंगाल के तेजस्वी नेता हैं। उन्हें TMC की ‘अराजकता’ से तंग आकर भाजपा में शामिल होने का फैसला लिया है।

कैलाश विजयवर्गीय का ऐलान, पश्चिम बंगाल चुनाव में भाजपा की तरफ से नहीं होगा कोई मुख्यमंत्री का चेहरा

कौन हैं अरिंदम भट्टाचार्य ?

अरिंदम, शांतिपुर विधानसभा सीट से विधायक हैं और नदिया जिले से तृणमूल कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल होने वाले ये पहले नेता हैै। हैरानी की बात ये हैं कि हाल ही में ममता बनर्जी ने इस इलाके में रैली किया था, जिसमें वे खुद उनके साथ मंच पर थे।पेशे से वकील रहे अरिंदम भट्टाचार्य ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत कांग्रेस पार्टी से की थी।कांग्रेस में वो साल 2001 से 2017 तक थे।साल 2016 के विधानसभा चुनाव में जब राज्य में तृणमूल की लहर थी तब अरिंदम ने कांग्रेस का प्रत्याशी रहते हुए शांतिपुर सीट पर TMC के अजॉय डे को हराया था। लेकिन इसके एक साल बाद यानी 2017 में खुद तृणमूल कांग्रेस जॉइन कर लिया था।

पश्चिम बंगाल में TMC नेता के बिगड़े बोल- बीजेपी नेताओं को लेकर कह दी इतनी बड़ी बात

शुभेंदु भी हैं BJP के साथ

बता दें अरिंदम से पहले कई टीएमसी नेता ममता का साथ छोड़ बीजेपी में शामिल हो चुके हैं। TMC के रीड़ की हड्डी कहे जाने शुभेंदु अधिकारी (Suvendu Adhikari) और उनके भाई सौमेंधु अधिकारी (Soumendu Adhikari) भी बीजेपी में शामिल हो चुके हैं।

BJP
Vivhav Shukla
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned