World Ozone Day 2020: पृथ्वी की रक्षा करने वाली ढाल की सुरक्षा जरूरी

  • हर साल 16 सितंबर को पूरी दुनिया में मनाया जाता है विश्व ओजोन दिवस ( World Ozone Day )।
  • 1976 में शुरू हुए इस दिवस के 35 साल पूरे, 'जीवन के लिए ओजोन' स्लोगन।
  • देश की प्रमुख हस्तियों ने भी इस दिन के मौके पर लोगों से की संरक्षण की अपील।

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में 16 सितंबर को विश्व ओजोन दिवस ( World Ozone Day ) के रूप में मनाया जाता है ताकि लोगों को ओजोन परत की कमी और जीवन पर इसके प्रभाव के बारे में जागरूक किया जा सके। ओजोन परत पृथ्वी के समताप मंडल में गैस की एक नाजुक परत है जो सूर्य की पराबैंगनी किरणों और अन्य हानिकारक किरणों को सबसे अधिक अवशोषित करती है। ये किरणें कई त्वचा रोगों जैसे मोतियाबिंद और त्वचा कैंसर का कारण बन सकती हैं। कई प्रसिद्ध हस्तियों ने इस दिन अपनी आवाज़ और चिंता को उठाया।

वर्ष 1976 में यह पाया गया था कि उद्योगों से उत्सर्जित होने वाले रसायन, जिनमें मुख्य रूप से क्लोरोफ्लोरोकार्बन (सीएफसी) ओजोन परत का क्षय करते हैं। ओजोन परत में गिरावट यूवी विकिरण (अल्ट्रावायलट) में वृद्धि का कारण बना, जो पृथ्वी पर जीवन के लिए खतरा है। इस शोध ने रसायनों पर प्रतिबंध लगा दिया और इसके परिणामस्वरूप, ओजोन का कम होना धीमा हो गया।

ओजोन परत O3 गैस से बनी होती है जो एक वातावरण की तरह ढाल होती है जिसमें ओजोन सांद्रता अधिक होती है> विश्व ओजोन दिवस 2020 का नारा "जीवन के लिए ओजोन" है। यह वर्ष वैश्विक ओजोन परत संरक्षण के 35 वर्षों के महत्वपूर्ण प्रयासों को चिह्नित करता है।

इस दिन का नारा, "जीवन के लिए ओजोन", पृथ्वी पर जीवन के अस्तित्व के लिए ओजोन ढाल के महत्व को याद दिलाने के लिए रखा गया है।

जब कि दुनिया ओजोन लेयर के संरक्षण के लिए 35 साल का अंतर्राष्ट्रीय दिवस मना रही है, ट्विटर पर #ozoneday2020 ट्रेंड कर रहा है। आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय ने ट्वीट किया, “भारत बदलते शहरी परिदृश्य के लिए पर्यावरण के अनुकूल, टिकाऊ और अभिनव समाधान का इस्तेमाल सुनिश्चित कर रहा है। इस विश्व ओजोन दिवस पर आइए हम सभी पृथ्वी ग्रह के 'रक्षक की रक्षा' करने के लिए हर संभव योगदान देंने की शपथ लें। #OzoneDay #OzoneDay2020 #AatmaNirbharBharat".

वहीं, संसद सदस्य कर्नल राज्यवर्धन राठौर ने लिखा है, "वातावरण के धीरज को कमजोर ना होने दें। ओजोन ढाल एक प्राकृतिक छतरी है जो हानिकारक यूवी विकिरणों से पृथ्वी की रक्षा करती है। सीएफसी गैसें इस ढाल को नुकसान पहुंचाती हैं। "वोकल फॉर लोकल" होना ओजोन के अनुकूल है क्योंकि कम परिवहन कम नाइट्रस ऑक्साइड के उत्सर्जित को मजबूर करता है।"

Show More
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned