यहां डंप किया गया था 45 लाख किलो इंसानी मल, बदबू के बीच लोगों का जीना हुआ बेहाल

यहां डंप किया गया था 45 लाख किलो इंसानी मल, बदबू के बीच लोगों का जीना हुआ बेहाल

यह इंसानी मल न्यूयॉर्क और न्यूजर्सी से पैरिश कस्बे के नजदीक स्थित एडम्सविले इलाके में एक निजी लैंडफिल साइट पर डंप किया गया।

नई दिल्ली। अमरीका के अल्बामा शहर के एक छोटे से कस्बे पैरिश में लोग इन दिनों बदबू के बीच जिंदगी गुजार रहे हैं। पिछले 2 महीनों से बदबू के बीच रहकर यहां के लोगों का जीना दुभर हो गया है। पैरिश में फैले बदबू की वजह इंसानी मल है। सीएनएन के मुताबिक, पूरे अमरीका का 45 लाख किलो इंसानी मल यहां के इलाकों में डंप किया गया है। यहां अभी भी ट्रेनों के माध्यम से अलग-अलग शहरों का इंसानी मल लाया जा रहा है। पैरिश में मल डंप करने के लिए दर्जनों ट्रेन का इस्तेमाल किया जा रहा है।

2 महीने से बदबू के बीच गुजार रहे हैं जिंदगी

यह इंसानी मल न्यूयॉर्क और न्यूजर्सी से पैरिश कस्बे के नजदीक स्थित एडम्सविले इलाके में एक निजी लैंडफिल साइट पर डंप किया गया। अब इस वजह से पैरिश के स्थानीय लोगों का दम घुंटने लगा है। यहां के लोग पिछले 2 महीने से बदबू के बीच अपनी जिंदगी गुजार रहे हैं। लोगों का कहना है कि जहां मल को डंप किया जा रहा है। वह खुला जगह पैरिश शहर से सिर्फ आधा किलोमीटर की दूरी पर है। इसी वजह से यहां का पूरा वातावरण दूषित हो गया है।

स्थानीय लोगों की मानें तो इन्होंने मल को डंप करने के खिलाफ होकर कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था और वह मुकदमा जीत भी गए थे। लेकिन मल को डंप करने वाली निजी कंपनी इसके बाद खुले में पड़े इस मल को रेल की बोगी में भर दिया, जिसकी वजह से यहां के लोगों को इसकी बदबू से निजात नहीं मिल सकी।

खेल के मैदान के पास खड़ी है मल से भरी बोगी

लोगों का कहना है जिस जगह पर मल से भड़ी बोगी खड़ी है, उसी जगह के पास बेसबॉल मैदान बना हुआ है। इस वजह से हम लोगों का जीना मुश्किल बना हुआ है। लोगों का कहना है कि यहां के वातावरण में ऐसी बदबू फैली है, जैसे किसी का शव खुले में पड़ा हो। यहां रहने वाले मेयर हीथर हॉल ने बताया कि बदबू की वजह से लोग बरामदे में नहीं बैठ पा रहे हैं। बच्चे खेलने के लिए मैदान में नहीं जा सकते हैं। हम तो कल्पना करके थक जाते हैं जब यहां भीषण गर्मी पड़ेगी।

सीवर का मल नहीं बायो वेस्ट है

वहीं पर्यावरण संरक्षण एजेंसी का कहना है कि अल्बामा डिपार्टमेंट ऑफ इंवॉयरमेंट मैनेजमेंट ने हमें भरोसा दिलाया है कि यह सीवर का मल नहीं है बल्कि बायो वेस्ट है, जिसकी वजह से इसकी बदबू आती है। हमें यह भी नहीं पता है कि कब इस बायो वेस्ट को यहां से हटाया जाएगा। वहीं मेयर का कहना है कि अगर हम इसके खिलाफ कोर्ट जाते हैं तो इससे यह और भी विलंब से यहां से हटेगा।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned