इथोपिया के पीएम अबी अहमद अली को मिला शांति का नोबेल पुरस्कार

इथोपिया के पीएम अबी अहमद अली को मिला शांति का नोबेल पुरस्कार

अबी अहमद अली (Abiy Ahmed ali) को उनके शांति प्रयासों के लिए नोबेल का शांति पुरस्कार दिया गया है।

नई दिल्ली। 2019 के नोबेल शांति पुरस्कार की घोषणा हो गई है। नोबेल कमेटी ने इस साल का शांति पुरस्कार इथोपिया के प्रधानमंत्री अबी अहमद अली को दिया है। अहमद अली को ये पुरस्कार शांति के लिए किए गए उनके प्रयासों को लेकर दिया गया है। अहमद अली ने अपने पड़ोसी मुल्कों के साथ खास तौर पर इरिट्रिया के साथ सीमा संघर्ष को समाप्‍त करने में अहम भूमिका निभाई थी।

कौन हैं अबी अहमद अली ?

आपको बता दें कि अहमद अली को इथोपिया का नेल्सन मंडेला भी कहा जाता है। 43 साल के अबी अहमद अप्रैल 2018 में इथोपिया के प्रधानमंत्री बने थे। उन्होंने उसी समय स्पष्ट कर दिया था कि वह इरिट्रिया के साथ शांति वार्ता को बहाल करेंगे। उन्होंने इरिट्रिया के राष्ट्रपति इसैयस अफवर्की के साथ मिलकर तुरंत इस दिशा में पहल शुरू की।

नोबेल कमेटी ने क्या कहा अबी अहमद के बारे में?

नॉर्वे की नोबेल कमेटी ने इस पुरस्कार का ऐलान करते हुए कहा कि अबी अहमद ने शांति स्‍थापित करने की दिशा में जो भी कदम उठाए हैं, उन्‍हें मान्‍यता देने और प्रोत्‍साहित करने की जरूरत है। पीएम के तौर पर उन्‍होंने सुलह, एकजुटता और सामाजिक न्‍याय को बढ़ावा दिया। उन्‍होंने कई महत्‍वपूर्ण सुधार किए, जिससे लोगों में बेहतर जीवन और उज्‍जवल भविष्‍य की उम्‍मीद जगी।

इथोपिया के पीएमओ की आई प्रतिक्रिया

नोबेल शांति का पुरस्कार मिलने के बाद इथोपिया के पीएमओ की तरफ से प्रतिक्रिया भी आई है। इथोपियन पीएम ऑफिस की तरफ से कहा गया है कि हमें अपने देश पर गर्व है। पीएमओ के इस ट्वीट को अहमद अली ने रीट्वीट भी किया है। इथोपियन पीएम कार्यालय की तरफ से कहा गया है, ''हमें अपनी भावनाएं व्यक्त करने में गर्व हो रहा है, अबी ने अपने शासन के लिए शांति और सुलह की नीति को अपनाया है।''

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned