...जब गंदी नालियों में बहता मिला 43 किलो सोना और तीन टन चांदी

mohit1 sharma

Publish: Oct, 13 2017 09:49:46 (IST)

Miscellenous World
...जब गंदी नालियों में बहता मिला 43 किलो सोना और तीन टन चांदी

नालों से बाहर निकाली गई इस बेशुमार दौलत की कीमत 31 लाख डॉलर (करीब 20 करोड़ रुपए) के आसपास आंकी गई है।

नई दिल्ली। एक ओर जहां दुनिया के कुछ देश गरीबी और भुखमरी से जूझ रहे हैं, वहीं एक ऐसा देश भी है जिसकी नालियों और नालों में भी सोना चांदी बहता पाया जाता है। यहां हम बता कर रहे हैं दुनिया के खुशहाल देशों में से एक स्विट्जरलैंड की। स्विट्जरलैंड की अमीरी का आलम यह है कि यहां के गंदे नालों में हर साल करोड़ों रुपए का सोना-चांदी बहा दिया जाता है। ताजा मामला नालों की सफाई में मिले सोने चांदी का है। यहां
शोधकर्ताओं ने पिछले साल जलशोधन संयंत्रों से निकली गाद से तीन टन चांदी और 43 किलो सोना खोज निकाला। नालों से बाहर निकाली गई इस बेशुमार दौलत की कीमत 31 लाख डॉलर (करीब 20 करोड़ रुपए) के आसपास आंकी गई है। सबसे अधिक मात्रा सोना वेस्ट स्विस क्षेत्र जुरा से पाया गया।

घड़ी निर्माता कंपनी का हो सकता है काम

दरअसल, पिछले दिनों यहां की सरकार की ओर से एक स्टडी कराई गई थी, जिसमें प्रमुख शोधकर्ता बेस वेरिएन्स ने कहा था कि आपने कुछ ऐसे सनकी पुरुषों और महिलाओं के बारे में सुना होगा जो अपने गहने टॉयलेट आदि में छिपा देते हैं या फेंक देते हैं। बता दें कि सबसे अधिक मात्रा सोना वेस्ट स्विस क्षेत्र जुरा से पाया गया। बताया जा रहा है कि इसका संबंध घड़ी निर्माता कंपनियों से है। ये कंपनियां महंगी घडिय़ों की सजावट में सोने का इस्तेमाल करती हैं।

ऐसे हुआ खुलासा

जानकारी के मुताबिक लोगों को नालों में सोना चांदी मिलने की जैसे ही सूचना लगी तो उन्होंने अपने घरों और आसपास की नालियों की सफाई शुरू कर दी। हालांकि इससे पहले ही शोधकर्ताओं ने साफ कर दिया कि ये धातुएं सूक्ष्म कणों के रूप में मिली हैं। जानकारों का मानना है कि ये संभवत: घडिय़ों, दवा और रासायनिक कंपनियों से निकले हो सकते हैं। ये कंपनियां उत्पादों के निर्माण और प्रक्रिया में इन धातुओं का उपयोग करती हैं।

 

 

 

 

 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned