ऑस्ट्रेलिया: 9 वर्षीय लड़की ने जताया राष्ट्रगान पर विरोध, देश भर में मचा हड़कंप

ऑस्ट्रेलिया: 9 वर्षीय लड़की ने जताया राष्ट्रगान पर विरोध, देश भर में मचा हड़कंप

राष्ट्रीय गान के दौरान खड़े होने से इनकार करने के बाद अब इस लड़की स्कूल से निलंबन की मांग की जा रही है

कैनबरा। देश में एक नौ वर्षीय लड़की को देश के राष्ट्रगान का बहिष्कार करने पर राजनेताओं समेत आम लोगों के भारी विरोध का सामना कर पड़ा रहा है। आस्ट्रेलिया के राष्ट्रीय गान के दौरान खड़े होने से इनकार करने के बाद अब इस लड़की स्कूल से निलंबन की मांग की जा रही है। ब्रिस्बेन के केनमोर साउथ स्टेट स्कूल की छात्रा हार्पर नील्सन ने कहा कि उन्होंने राष्ट्रीय गान के विरोध करने का फैसला किया क्योंकि यह स्वदेशी ऑस्ट्रेलियाई मूल निवासियों को शामिल नहीं करता।

क्या है मामला

हार्पर नील्सन नामक छात्रा का कहना है कि "एडवांस ऑस्ट्रेलिया फेयर नामक गाने में एक पंक्ति है जिसमे कहा गया है कि सभी ऑस्ट्रेलियाई हमें खुश रखते हैं, क्योंकि हम युवा और स्वतंत्र हैं। लेकिन जब हम एडवांस ऑस्ट्रेलिया फेयर की बात करते हैं, तो इसका मतलब है कि हम श्वेत लोगों को आगे करते हैं।" हार्पर नील्सन आगे अपनी बात रखते हुए कहती हैं कि जब हमारा एंथम कहता है कि 'हम युवा हैं' तब यह स्वदेशी ऑस्ट्रेलियाई लोगों की पूरी तरह से उपेक्षा करता है जो हमारे यहां 50,000 वर्षों से पहले से रहते आए हैं।

छात्रा को मिला स्कूल से दंड

एक ऑस्ट्रेलियाई समाचार चैनल से बात करते हुए लड़की ने बताया कि स्कूल ने उसे राष्ट्रगान के समय खड़े होने या फिर स्कूल के परिसर से बहार निकलने के लिए कहा लेकिन जब उसने ऐसा करने से इनकार कर दिया, तो उसे जानबूझकर राष्ट्रगान का अपमान करने के लिए दोपहर के भोजन से वंचित कर दिया गया। नीलसन से कहा गया कि या तो वह लिखित में माफी मांगे अथवा अपना निलंबन झेलने के लिए तैयार रहे।

राजनीतिक हलकों में हड़कंप

9 वर्षीय छात्रा हार्पर नील्सन के इस कृत्य के बाद ऑस्ट्रेलिया में हड़कंप मच गया है। सोशल मीडिया से राजनीतिक गलियारों तक इस बात पर बहस चल रही है कि नील्सन ने सही किया या गलत। दक्षिणपंथी सीनेटर पॉलिन हैंनसन ने कहा कि ऑस्ट्रेलियाई स्कूल बच्चों के लिए "दिमागी धड़कन" हैं। उन्होंने कहा कि "नील्सन केवल एक उदाहरण है। कई बच्चे उससे प्रेरित होकर उसके रस्ते पर आगे बढ़ सकते हैं। ऐसे में नील्सन को स्कूल से बाहर निकाल देना चाहिए।" उन्होंने कहा कि 'यह लड़की गलत रास्ते का नेतृत्व कर रही है और मैं इसे प्रोत्साहित करने के लिए माता-पिता को दोष देता हूं।'

पूर्व पीएम टोनी एबॉट ने भी जताया रोष

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई प्रधान मंत्री टोनी एबॉट ने कहा कि लड़की को "नियमों का पालन करना" चाहिए। उधर क्वींसलैंड के लिबरल राष्ट्रीय राजनेता जारोड ब्लेजी ने कहा कि अगर लड़की राष्ट्रगान के दौरान बैठना जारी रखती है उसे निलंबित कर दिया जाना चाहिए।

Ad Block is Banned