अफगानिस्तान में जल्द खत्म हो जाएगा अनाज, तालिबान को चीन से सहायता की उम्मीद

इस माह के आखिर तक अफगानिस्तान में खाद्य भंडार समाप्त हो जाएगा। प्रत्येक तीन में से एक अफगानी को यह पता नहीं है कि उनका अगला भोजन कहां से आएगा।

नई दिल्ली। अफगानिस्तान में तालिबान सरकार के गठन की कवायद के बीच संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंटोनियो गुटेरेस ने वहां मानवीय और आर्थिक तबाही की चेतावनी दी है। उनके अनुसार इस माह के आखिर तक अफगानिस्तान में खाद्य भंडार समाप्त हो जाएगा। प्रत्येक तीन में से एक अफगानी को यह पता नहीं है कि उनका अगला भोजन कहां से आएगा। देश से पलायन करने वालों की भी संख्या बढ़ सकती है हालांकि तालिबान ने फिलहाल देशवासियों के बाहर जाने पर रोक लगा दी है।

गुटेरेस ने दुनिया से मानवीय सहायता के लिए आपातकालीन धन उपलब्ध कराने का आग्रह किया है। संयुक्त राष्ट्र प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने भी कहा है कि अफगानिस्तान के लिए संयुक्त राष्ट्र की मौजूदा 1.3 अरब डॉलर की अपील पर अब तक केवल 39 फीसदी धन ही मिल पाया है।

यह भी पढ़ें : Taliban News: बगराम एयरबेस को कब्जे में लेने की कोशिश कर रहा है चीन, भारत की बढ़ सकती है मुश्किलें

देश में महंगाई बढ़ी
अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद से महंगाई बढ़ गई है। रोजमर्रा की चीजों की कीमतें भी कई गुणा हो रही है। ऐसे में खाद्य भंडार की समाप्ति होना वहां किसी बड़ी आपदा के समान सिद्ध होगा।

देश में गहराया आर्थिक संकट
तालिबान द्वारा सत्ता को हथियाए जाने के बाद अफगानिस्तान के रिजर्व फंड पर अमरीका ने प्रतिबंध लगा दिया है। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने भी देश की करोड़ों की संपत्ति जब्त करने का निर्णय लिया है और दुनिया के अन्य देशों से आने वाली सहायता राशि भी लगभग बंद हो चुकी है। इसके अलावा मनी ट्रांसफर जैसे पेमेंट सर्विसेज बंद होने के कारण आम नागरिक की आर्थिक हालत दिनोंदिन खराब होती जा रही है। देश की मुद्रा का अवमूल्यन होने के कारण भी यहां के लोगों के सामने आऱ्थिक संकट खड़ा हो चुका है। ऐसे में तालिबान के सामने सबसे बड़ी चुनौती देश के हालात को संभालने की रहेगी।

यह भी पढ़ें : Patrika Opinion : तालिबान पर ऊहापोह और महात्मा गांधी

तालिबान को है चीन से उम्मीद
तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने एक इटेलियन अखबार से कहा कि आर्थिक मोर्चे पर जंग जीतने में चीन हमारा प्रमुख सहयोगी रहेगा। लॉ रिपब्लिका को दिए गए एक इंटरव्यू में मुजाहिद ने कहा कि चीन हमारा प्रमुख साझेदार है क्योंकि वह देश में निवेश और पुनर्निर्माण के लिए तैयार है।

सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned