यूएन ने लिया निर्णय, अफगानिस्तान और म्यांमार को संयुक्त राष्ट्र महासभा में संबोधित करने से रोका

संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र की आम बहस के अंतिम दिन वक्ताओं की नई सूची के तहत दोनों के नामों को हटा दिया गया।

तेहरान। संयुक्त राष्ट्र महासभा (United Nation Assembly) की उच्च स्तरीय बहस में अफगानिस्तान (Afghanistan) और म्यांमार (Myanmar) को शामिल नहीं करा गया है। इसकी जानकारी एक यूएन अधिकारी ने दी। संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र की आम बहस के अंतिम दिन वक्ताओं की नई सूची के तहत, सत्र को संबोधित करने के लिए अफगानिस्तान और म्यांमार वक्ताओं के रूप में सूचीबद्ध नहीं करा गया है।

हालांकि बीते शुक्रवार को महासचिव के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने ऐलान किया था कि सोमवार के लिए सूची में अफगानिस्तान के प्रतिनिधि एच ई गुलाम एम इसाकजई को शामिल करा गया है।

ये भी पढ़ें: Afghanistan: पूर्व राष्ट्रपति अशरफ गनी का फेसबुक अकाउंट हैक, हैकरों ने तालिबान सरकार को मान्यता देने की मांग की

म्यांमार में तख्तापलट के बाद इसके सैन्य शासकों ने कहा है कि संयुक्त राष्ट्र में देश के राजदूत क्याव मो तुन को बर्खास्त करा गया है। वे चाहते हैं कि अब आंग थुरिन उनकी जगह लें।

बीते हफ्ते तालिबान ने यूएन महासचिव एंटोनियो गुटेरेस को पत्र लिखकर कहा था कि प्रवक्ता सुहैल शाहीन को संयुक्त राष्ट्र में अफगानिस्तान के राजदूत के रूप में मान्यता दी जानी चाहिए। इसमें शाहीन को संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र में शिरकत करने की मांग की गई थी।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned