अफगानिस्तान: पत्रकारों की हत्या पर अमरीका ने सख्त कार्रवाई की मांग की

Highlights

  • आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने तीन महिलाओं की हत्या की जिम्मेदारी ली है।
  • महिलाओं को अलग-अलग स्थानों पर गोली मारी गई।

काबुल। आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (IS) ने पूर्वी अफगानिस्तान में एक स्थानीय रेडियो एवं टीवी स्टेशन पर काम करने वाली वाली तीन महिलाओं की हत्या की जिम्मेदारी ली है।

आतंकी संगठन ने मंगलवार देर रात इन हमलों की जिम्मेदारी ली है। वहीं अफगान सरकार ने इन हमलों को लेकर तालिबान को जिम्मेदार ठहराया है।

अनुराग-तापसी के घर छापे में मिले टैक्स चोरी के सबूत, अनियमितता का मामला सामने आया

इन मीडियाकर्मियों की मौत पर अमरीकी विदेश विभाग के प्रवक्‍ता नेड प्राइस का कहना है कि हम चाहते हैं कि इन जघन्य हत्याओं की खुली और पारदर्शी जांच को लेकर दोषियों की दंडमुक्ति की संभावना खत्म हो। हम सरकार से प्रेस की स्वतंत्रता और पत्रकारों की रक्षा करने का आह्वान करते हैं।'

युद्धग्रस्त देशों में आम लोगों को निशाना बनाकर हत्या के मामले बढ़ रहे हैं। तीनों मीडियाकर्मियों का बुधवार को अंतिम संस्कार किया गया। निजी चैनल के समाचार संपादक और ननगरहर प्रांत के अधिकारियों के अनुसार महिलाओं को अलग-अलग स्थानों पर गोली मारी गई। अफगान अधिकारियों के अनुसार पुलिस ने तीनों की हत्या के संदिग्धों को गिरफ्तार कर लिया है। इसकी पहचान कारी बसर के रूप में की गई है। पुलिस का कहना है कि बसर तालिबानी आतंकवादी है, लेकिन तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने इस दावे को नकार दिया है।

आतंकी संगठन आईएस का कहना है कि इन महिला पत्रकारों को इसलिए निशाना बनाया गया, क्योंकि वे 'धर्म का त्याग कर चुकी अफगान सरकार के वफादार मीडिया स्टेशनों' में से एक में काम करती थीं।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned