चीन में नई बीमारी ने दी दस्तक, स्वाइन फीवर के नए स्ट्रेन से 1000 Pigs हुए संक्रमित

  • African swine fever : अफ्रीकन स्वाइन फीवर के मिले दो स्ट्रेन, म्यूटेशन का नहीं चल पा रहा है पता
  • चीन की पोर्क मार्केट दुनिया-भर में मशहूर है, इसलिए इसकी कीमत काफी ज्यादा है

By: Soma Roy

Published: 22 Jan 2021, 06:24 PM IST

नई दिल्ली। चीन के वुहान से पूरी दुनिया में फैले कोरोना वायरस का प्रकोप अभी तक शांत भी नहीं हुआ है कि वहां एक और नई बीमारी ने दस्तक दे दी है। पोर्क मीट के लिए दुनिया-भर में मशहूर चीन के मार्केट में अफ्रीकन स्वाइन फीवर के दो नए स्ट्रेन देखने को मिले हैं। जिसकी वजह से करीब 1000 (सुअर) संक्रमित हो गए हैं। माना जा रहा है कि बिना लाइसेंस वाली वैक्सीन (सुअरों) को लगाने की वजह से ऐसा हुआ है।

चीन की चौथी सबसे बड़ी पोर्क (सुअर मांस) विक्रेता कंपनी के चीफ साइंस ऑफिसर यान झिचुन ने एक एजेंसी को दिए इंटरव्यू में बताया कि इस संक्रमण की वजह से (सुअर) बेतरतीब तरीके से मोटे हो रहे हैं। दोनों स्ट्रेन्स की वजह से अफ्रीकन स्वाइन फीवर से संक्रमित (सुअर) मर नहीं रहे हैं। दूसरे (सुअरों) में ये संक्रमण न फैले इसके लिए कई पोर्क उत्पादक कंपनियों ने इस बीमारी से ग्रसित सुअरों को हाल ही में मारा है। ऐसे में अभी ये संक्रमण सीमित है, लेकिन दूसरे इलाकों में नए स्ट्रेन के तेजी से फैलने की खबर सामने आ रही है।

बीजिंग के जीव विज्ञानी वाएन जॉनसन का इस बारे में कहना है कि पिछले साल (सुअरों) में क्रोनिक बीमारी देखी थी, हालांकि वो इतनी जानलेवा नहीं थी। इसके वायरस में कुछ जेनेटिक कंपोनेंट्स कम थे। मगर न्यू होप के (सुअरों) में जो स्ट्रेन मिला है उसमें MGF360 और CD2v जीन गायब हैं। अभी तक ये नहीं पता चल पा रहा है कि ये म्यूटेशन किस तरह से हो रहा है। मालूम हो कि इससे पहले चीन में साल 2018 और 2019 स्वााइन फीवर फैला था, जिसमें करीब 20 करोड़ (सुअर) प्रभावित हुए थे।

Show More
Soma Roy
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned