अमरीका ने 14 वरिष्ठ चीनी अधिकारियों पर लगाया प्रतिबंध, हांगकांग मामले पर दोनों देशों में फिर बढ़ा तनाव

HIGHLIGHTS

  • अमरीका ने हांगकांग मामले पर एक कड़ी कार्रवाई करते हुए 14 वरिष्ठ चीनी अधिकारियों पर प्रतिबंध ( US Banned Chinese Officials ) लगा दिया, जिसमें एक तिब्बती नागरिक भी शामिल है।
  • अमरीकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ( Mike Pompeo ) ने इन प्रतिबंधों की घोषणा करते हुए चीन की नेशनल पीपुल्स कांग्रेस की स्थायी समिति ( NPCSC) पर आरोप लगाया।

वाशिंगटन। कोरोना वायरस और आर्थिक मामलों समेत कई मुद्दों को लेकर अमरीका और चीन में तकरार ( China America Tension ) बढ़ने के साथ एक बार फिर से तनाव बढ़ गया है। अमरीका ने हांगकांग मामले पर एक कड़ी कार्रवाई करते हुए 14 वरिष्ठ चीनी अधिकारियों पर प्रतिबंध ( US Banned Chinese Officials ) लगा दिया है, जिसमें एक तिब्बती नागरिक भी शामिल है।

अमरीका ने सोमवार को हांगकांग की स्वायत्तता को कमजोर करने से संबंधित मामले को लेकर यह कार्रवाई की है। मीडिया रिपोर्ट में ये कहा जा रहा है कि अमरीका चीन के खिलाफ और भी सख्ती बरतने के साथ ही अन्य चीनी अधिकारियों पर पाबंदी लगा सकता है।

China की नापाक चाल, ब्रह्मपुत्र नदी पर बना रहा है सबसे बड़ा बांध, पूर्वोत्तर भारत और बांग्लादेश में सूखे की आशंका

अमरीकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ( Mike Pompeo ) ने इन प्रतिबंधों की घोषणा करते हुए कहा कि चीन की नेशनल पीपुल्स कांग्रेस की स्थायी समिति ( NPCSC) की ओर से हांगकांग के लोगों की अपने प्रतिनिधि का चुनाव करने की क्षमता को प्रभावित किया गया।

अमरीका ने पहले भी चीनी अधिकारियों पर लगाया है बैन

आपको बता दें कि चीनी अधिकारियों के इस प्रतिबंध में वीजा पर रोक भी शामिल है। माइक पोम्पियो ने कहा कि NPCSC के 14 उपाध्यक्षों को प्रतिबंधित सूची में शामिल किया गया है। इससे पहले भी कई चीनी अधिकारियों पर अमरीका ने बैन लगाया है।

अमरीका ने हांगकांग और चीन के शिनजियांग प्रांत में रहने वाले उइगुर मुस्लमानों के मानवाधिकार हनन को लेकर कार्रवाई करते हुए कई चीनी अधिकारियों पर प्रतिबंध लगाया है। अमरीका ने चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के तीन वरिष्ठ अधिकारियों पर प्रतिबंध लगाया था।

America और China में बढ़ी तल्खी, Trump बोले- Bijing को कभी नहीं करेंगे माफ, Dragon से नहीं होगी वार्ता

मालूम हो कि चीन और अमरीका कई अहम मुद्दों को लेकर आमने-सामने हैं। दक्षिण चीन सागर में भी अमरीका और चीन के बीच तनाव बढ़ा है। वहीं ताइवान मामले पर भी चीन ने अमरीका को धमकी दी है और इससे अलग रहने की बात कही है। ताइवान और अमरीका में नजदीकियां बढ़ने से चीन परेशान हो गया है। चूंकि चीन ताइवान को अपना हिस्सा मानता है।

Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned