Coronavirus: WHO का दावा, अमरीका नहीं चेता तो इटली को पीछे छोड़ बनेगा संक्रमण का नया केंद्र

Highlights

  • दुनियाभर में आए 85 प्रतिशत मामलों में 40 प्रतिशत मामले अमरीका से।
  • अमरीका में अब तक 628 लोगों मी मौत हो चुकी है।
  • इटली में छह हजार से अधिक लोग मारे जा चुके हैं।

वाशिंगटन। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अमरीका को चेताया है कि अगर वह समय रहते नहीं संभाला तो जल्द कोरोना वायारस का सबसे बड़ा गढ़ होगा। यहां पर इटली से भी अधिक लोगों के मारे जाने की संभावना है। बीते 24 घंटे में दुनियाभर में आए 85 प्रतिशत मामलों में 40 प्रतिशत मामले अमरीका से हैं। इस समय इटली में कोरोना वायरस के कारण सबसे अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। यहां पर छह हजार से अधिक लोग मारे जा चुके हैं।

अफगानिस्तान: काबुल में गुरुद्वारे पर आतंकी हमला, चार लोगों की मौत

गौरतलब है कि कोरोना वायरस का पहला मामला दिसंबर में चीन में आया था, जिसने यहां पर 3,281 लोगों के मौत के घाट उतार दिया। अब अमरीका में मरने वालों के आंकड़ों को देखें तो ये वायरस के नए केंद्र रूप में देखा जा रहा है। यहां पर अब तक 628 लोगों मी मौत हो चुकी है। वहीं करीब पचास हजार लोग इसकी चपेट में हैं।

trump.jpg

बीते कुछ हफ्तों से यहां पर लगातार नए मामले सामने आ रहे हैं। बीते सोमवार तक यहां पर 11,000 नए पॉजिटिव मामले सामने आए। वहीं 24 घंटे में यहां पर 100 लोगों की मौत हो गई। यह डेथ रेट कए रिकॉर्ड है। विशेषज्ञों का कहना कि अमरीका के 17 सबसे अधिक प्रभावित राज्यों में लॉकडाउन की स्थिति है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार आने वाले समय में अमरीका में बढ़ते मामले इस बात की तस्दीक करेंगे कि अमरीका कोरोना वायरस का नया केंद्र बन सकता है। अभी तक के मामलों को देखें तो दुनियाभर में करीब चार लाख लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं। वहीं 17 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।

इन मामलों के आने के बाद अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप लोगों से सोशल डिस्टेंस बढ़ाने की अपील की है। मगर उन्होंने देश में पूरी तरह से लॉकडाउन न लगाने पर सहमति जताई। उन्होंने इससे इकोनॉमी को गहरा नुकसान हो सकता है। लोगों को जागरूक करने के बजाय ट्रंप अन्य मुद्दों पर अधिक बोलते नजर आए।

ट्रंप ने सोमवार को कोरोनोवायरस के प्रसार को रोकने के लिए नीतियों के एक नए सेट की घोषणा की, जिसमें रेस्तरां बंद करना और 10 से अधिक लोगों के साथ सामाजिक समारोहों पर प्रतिबंध लगाना शामिल था। लेकिन उन्होंने संकेत दिया कि महामारी के कारण बंद हो रहे सभी व्यवसायों से आने वाले आर्थिक प्रभाव होगा। उन्होंने कहा कि अमेरिका, फिर से और जल्द ही, व्यापार के लिए खुला होगा।

coronavirus What is Coronavirus?
Show More
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned