आसियान: अमरीकी राष्ट्रपति ट्रंप से मिले पीएम मोदी, कहा- लगातार मजबूत हो रहे रिश्ते

Mohit sharma

Publish: Nov, 13 2017 09:34:42 AM (IST) | Updated: Nov, 14 2017 08:14:48 AM (IST)

विश्‍व की अन्‍य खबरें
1/1

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आसियान शिखर सम्मेलन में शामिल होने फिलीपींस पहुंचे हुए हैं। आज पीएम मोदी के फिलीपींस तीन दिवसीय दौरे का दूसरा दिन है। सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच द्विपक्षीय बातचीत हुई। दोनों नेता बैठक के दौरान कई मुद्दों पर बात करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्रंप से मुलाकात कर कहा कि भारत और अमेरिका के बीच रिश्ते काफी पुराने और मजबूत हैं. दोनों देश एशिया और मानवता के लिए साथ मिलकर काम करेंगे। इस दौरान मोदी आतंकवाद और उग्रवाद की बढ़ती चुनौतियों से निपटने के लिये एक वैश्विक दृष्टिकोण तय किए जाने की भारत की मांग दोहराने के साथ क्षेत्रीय व्यापार बढ़ाने के लिये कदम उठाने पर जोर दे सकते हैं। बता दें कि आसियान एक 10 दक्षिण पूर्व एशिया के प्रमुख देशों का एक संगठन है। इस बैठक में भाग लेने के लिये म्यांमार की नेता आंग सान सू की, कंबोडिया के पीएम हुन सेन, मलेशिया के पीएम नजीब रज्जाक, सिंगापुर के पीएम ली सिएन लूंग और न्यूजीलैंड की पीएम जे आरडेर्न पहले ही मनीला पहुंच गए हैं।

 

आसियान के अलावा भारत, आस्ट्रेलिया, अमरीका व जापान के प्रतिनिधि मंडल के बची एशिया प्रशांत क्षेत्र को लेकर एक महत्वपूर्ण बैठक भी हुई। बैठक में प्रस्तावित चार-पक्षीय गठजोड़ के तहत सुरक्षा सहयोग को साकार बनाने की पहल पर वार्ता हुई। जिसमें रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण भारत-प्रशांत क्षेत्र (इंडो-पैसेफिक) को मुक्त, खुला और समावेशी बनाने एवं साझा हितों को बढ़ावा देने से जुड़े मुद्दों विचार साझा किए गए।

इन मुद्दों पर रहेगा जोर

दरअसल, आसियान संगठन व्यापार, निवेश, समुद्री सुरक्षा, आतंकवाद व परमाणु प्रसार जैसे अहम मुद्दों पर चर्चा और प्रतिबंध लगाने के लिए बनाया गया है। सोमवार को जहां इन मसलों पर चर्चाओं के बीच भारत आतंकवाद जैसे बड़े मुददे पर संगठन के देशों को विशेष सहयोग चाहेगा। 10 आसियान सदस्य देशों के इस संगठन में भारत, चीन, जापान, कोरियन रिपब्लिक ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, अमेरिका और रूस शामिल हो रहे हैं। वहीं मोदी आसियान-भारत और पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलनों को मंगलवार को संबोधित करेंगे। वह आसियान की 50वीं वर्षगांठ के मौके पर आयोजित विशेष कार्यक्रम में भी भाग लेंगे।

नॉर्थ कोरिया के मसले पर होगी चर्चा

आसियान शिखर सम्मेलन के दौरान मंगलवार को नॉर्थ कोरिया द्वारा किए जा रहे परमाणु परीक्षण से कोरियाई प्रायद्वीप पर पैदा हुए संकट पर मंथन होगा। इसके अलावा दक्षिण चीन सागर समेत एशिया के कई विवादित क्षेत्रों पर भी विशेष चर्चा होने की संभावना है। सम्मेलन के दौरान पीएम मोदी अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, जापान के पीएम शिंजो आबे, ऑस्ट्रेलिया के पीएम मैकुलम टर्नबुल और रूस के पीएम दिमित्री मेतवेदेव और कुछ अन्य देशों के नेताओं के साथ अलग से द्विपक्षीय मुलाकातें कर सकते हैं।

Ad Block is Banned