Australia: कोरोना के नए स्ट्रेन को लेकर पीएम मॉरिसन ने बुलाई आपात बैठक, ब्रिसबेन में लॉकडाउन की घोषणा

HIGHLIGHTS

  • ऑस्ट्रेलिया में कोरोना के नए स्ट्रेन के कई मामले सामने आने के बाद से देश के तीसरे सबसे बड़े शहर ब्रिसबेन में तीन दिवसीय लॉकडाउन की घोषणा की गई है।
  • एक स्थानीय निवासी के कोरोना वायरस म्यूटेंट स्ट्रेन से संक्रमित पाए जाने के बाद यह कदम उठाया गया।
  • ऑस्ट्रेलिया में कोरोना वायरस के कुल 28,536 मामले पाए गए, जबकि इस वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 909 हो गई है।

कैनबरा। कोरोना महामारी ( Corona Epidemic ) से पूरी दुनिया जूझ रही है और हर दिन लाखों की संख्या में नए मामले सामने आ रहे हैं, जबकि हजारों लोगों की मौत हो रही है। कोरोना के नए स्ट्रेन ( Corona New Strain ) सामने आने के बाद से दुनियाभर में हड़कंप मच गया है। तेजी के साथ फैलते हुए कोरोना का नया वैरियंट अब तक 40 से अधिक देशों में पहुंच चुका है।

लिहाजा इसे लेकर सतर्कता बरती जा रही है और रोकथाम के उपाय किए जा रहे हैं, क्योंकि विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना का यह नया वैरियंट पहले के वायरस के मुकाबले 70 फीसदी अधिक संक्रामक है।

ऑस्ट्रेलिया में छह माह तक के लिए बढ़ सकता है लॉकडाउन, पीएम स्कॉट मॉरिसन ने चेताया

अब ऑस्ट्रेलिया में भी पहुंच चुके इस नये स्ट्रेन के खतरे को देखते हुए प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ( Prime Minister Scott Morrison ) ने शुक्रवार को विशेष नेताओं की एक बैठक बुलाई। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, बुधवार शाम मॉरिसन ने घोषणा की थी कि राष्ट्रीय मंत्रिमंडल की बैठक होगी, जिसमें प्रधानमंत्री और राज्य और क्षेत्र के नेता शामिल रहेंगे। बैठक में अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा प्रधान समिति ( AHPPC ) के एक प्रस्ताव पर ध्यान केंद्रित करेंगे, ताकि अंतर्राष्ट्रीय कोरोना वायरस सुरक्षा को मजबूत किया जा सके।

अब तक 909 की मौत

मॉरिसन ने सोशल मीडिया पर एक बयान में कहा, 'यह प्रस्ताव अंतर्राष्ट्रीय यात्रा प्रक्रियाओं में कोरोना वायरस से सुरक्षा को और मजबूत करने के लिए है।’ बैठक में कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण पर भी चर्चा होगी।

Corona Vaccine का महिलाओं में ज्यादा साइड इफेक्ट, एलर्जी के 90 फीसदी मामले आने के बाद जांच शुरू

राज्य के प्रीमियर और अधिकारियों ने नए वायरस के लेकर बढ़ती चिंताओं के बीच इससे पहली एक बैठक की गई थी। बता दें कि गुरुवार तक ऑस्ट्रेलिया में कोरोना वायरस के कुल 28,536 मामले पाए गए, जबकि इस वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 909 हो गई है।

ब्रिसबेन में 3 दिवसीय लॉकडाउन की घोषणा

आपको बता दें कि ऑस्ट्रेलिया में कोरोना के नए स्ट्रेन के कई मामले सामने आने के बाद से हड़कंप मचा हुआ है। इन सबके बीच ऑस्ट्रेलिया के तीसरे सबसे बड़े शहर ब्रिसबेन ने शुक्रवार को तीन दिवसीय लॉकडाउन की घोषणा की है। एक स्थानीय निवासी के कोरोना वायरस म्यूटेंट स्ट्रेन से संक्रमित पाए जाने के बाद यह कदम उठाया गया। क्वींसलैंड राज्य के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, जहां शहर स्थित है, ग्रेटर ब्रिसबेन क्षेत्र में 11 जनवरी तक लॉकडाउन रहेगा।

14 दिनों के लिए रहना होगा क्वारंटीन

स्थानीय निवासी केवल जरूरी काम के लिए घर से निकल सकते हैं, जिसमें किराने का सामान या दवा खरीदना, काम करना या अध्ययन करना, व्यायाम और स्वास्थ्य देखभाल शामिल हैं, यदि घर से ऐसा करने में सक्षम नहीं हैं।

राज्य की प्रीमियर एनासटेशिया पलाश्चुक ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, 'हम क्वींसलैंड के लोगों को सुरक्षित रखने के लिए ऐसा कर रहे हैं। हम जानते हैं कि यह स्ट्रेन अत्यधिक संक्रामक है, 70 प्रतिशत अधिक संक्रामक है। हम वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सब कुछ करेंगे।’ ब्रिसबेन के क्वारंटीन होटल में काम करने वाले एक युवा क्लीनर के म्यूटेंट स्ट्रेन से संक्रमित पाए जाने के बाद सख्त प्रतिबंध लगाने का फैसला किया गया।

भारत बायोटेक, फाइजर और ऑक्सफोर्ड में किसकी Corona Vaccine जीतेगी

साउथ ऑस्ट्रेलिया ने ग्रेटर ब्रिस्बेन क्षेत्र के साथ सख्त सीमा नियमों को लागू किया। शुक्रवार आधी रात से, ग्रेटर ब्रिसबेन क्षेत्र से दक्षिण ऑस्ट्रेलिया में आने वाले किसी को भी 14 दिनों के लिए क्वारंटीन में रहने की आवश्यकता होगी।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned