ऑस्ट्रेलिया: जम्मू-कश्मीर से 370 हटने के समर्थन में मेलबर्न में लोगों ने निकाली रैली

ऑस्ट्रेलिया: जम्मू-कश्मीर से 370 हटने के समर्थन में मेलबर्न में लोगों ने निकाली रैली

Anil Kumar | Updated: 15 Sep 2019, 10:55:37 PM (IST) विश्‍व की अन्‍य खबरें

  • मेलबर्न में भारतीय मूल के लोगों ने अनुच्छेद 370 हटने के समर्थन में एक रैली का आयोजन किया
  • कश्मीरी पंडितों के नेतृत्व में विक्टोरियन राज्य संसद से फेडरेशन स्क्वायर तक एक रैली का आयोजन किया गया

मेलबर्न। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद जहां पाकिस्तान की ओर से लगातार विरोध जताया जा रहा है, वहीं बाकी दुनिया के लोग इस पर खुशी मना रहे हैं।

इसी कड़ी में ऑस्ट्रेलिया में भी भारतीय मूल के लोगों ने 370 हटने का जश्न मनाया। मेलबर्न में भारतीय मूल के लोगों ने अनुच्छेद 370 हटने के समर्थन में एक रैली का आयोजन किया।

इंग्लैंड में 370 हटाने के समर्थन में सड़कों पर उतरे लोग, भारत विरोधी प्रचार के खिलाफ किया प्रदर्शन

भारतीय मूल के ऑस्ट्रेलियाई नागरिकों ने अनुच्छेद 370 को हटाने के भारत सरकार के फैसले का स्वागत किया और कश्मीरी पंडितों के नेतृत्व में उन्होंने विक्टोरियन राज्य संसद से फेडरेशन स्क्वायर तक एक रैली का आयोजन किया।

बता दें कि आस्ट्रेलिया के मेलबर्न शहर में भारी संख्या में भारतीय मूल के लोग रहते हैं। जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर गए थे, तब भारतीय समुदाय के लोगों ने उनका भव्य स्वागत किया था।

इंग्लैंड में भी लोगों ने निकाली रैली

आपको बता दें कि इससे पहले शनिवार को इंग्लैंड में इंडो-यूरोपियन कश्मीर फोरम और हिंदू काउंसिल यूके ने बर्मिंघम के विक्टोरिया स्क्वायर में अनुच्छेद 370 और 35A को हटाने के समर्थन में एक रैली निकाली। इसके अलावा पाकिस्तान की ओर से लगातार भारत विरोधी प्रचार किए जाने के खिलाफ प्रदर्शन भी किया।

लोगों ने सड़कों पर उतर कर भारत सरकार के फैसले पर अपना समर्थन जताया। रैली में शामिल लोगों ने भारत माता की जय और बंदे मातरम के नारे लगाए।

पाकिस्तान के पीएम इमरान ने कबूला, अमेरिका के कहने पर लगाई आतंक की फैक्ट्री

मालूम हो कि पाकिस्तान अनुच्छेद 370 हटने के बाद भारत के खिलाफ लगातार प्रोपैगैंडा फैला रहा है और दुष्प्रचार कर रहा है। लेकिन भारत दुनिया के हर मंच पर पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दे रहा है और उनके मंसूबों को बेनकाब कर रहा है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned