Brazil के राष्ट्रपति कोरोना से जूझकर ठीक हुए, अब उन्हें एक नई बीमारी ने घेरा

braighlights

  • ब्राजील (Brazil) के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो (Jair Bolsonaro) का कहना है कि उन्होंने खून की जांच कराई है, जिसमें इस बीमारी का पता चला।
  • 'मोल्ड' एक बीमारी है, जिसमें फेफड़े की खाली जगह पर फंगस उग जाता है।

ब्रासीलिया। बीते दिनों ब्राजील (Brazil) के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो (Jair Bolsonaro) कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। इसके बाद से वे आइसोलेशन में चले गए। मगर कोरोना से ठीक होने के कुछ दिनों के बाद उन्होंने एक हैरान कर देने वाला बयान दिया है। उनका कहना है कि उनके फेफड़ो में मोल्ड है। इसकी वजह से वह काफी कमजोरी महसूस कर रहे हैं। इस दौरान वह एंटीबायोटिक्स (Antibiotics) दवाइयां ले रहे हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि राष्ट्रपति को ये बीमारी शायद पहले से थी। मगर इसका पता बाद में चला हैं।

इंफेक्शन के बारे में कुछ नहीं बताया

राष्ट्रपति जायर का कहना है कि उन्होंने खून की जांच कराई है। इसमें पता चला है कि उनके फेफड़ों में मोल्ड हो गया है, इसके कारण उन्हें काफी कमजोरी का सामना करना पड़ रहा है। लाइवस्ट्रीम के जरिए उन्होंने इंफेक्शन के बारे में कुछ नहीं बताया है। बात करते हुए उन्होंने इंफेक्शन के बारे में तो कुछ नहीं बताया लेकिन अपनी दिक्कत के बारे में जानकारी जरूर दे दी। उनका कहना है कि इस दौरान उन्हें सांस लेने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

गौरतलब है कि फेफड़ों में मोल्ड करने का मतलब होता है कि उनका खोखला होना। इस खाली जगह में बैक्टीरियल या फंगल स्पोर्स हो जाते हैं। इसका अगर समय पर इलाज न हो तो इंसान टीबी का मरीज हो सकता है। इस दौरान फेफड़े कपास के फूल दिखाई देने लगते हैं।

मोल्ड एक बीमारी है, जिसमें फेफड़े की खाली जगह पर फंगस उग जाता है। इस तरह इंसान को सांस सांस लेने में दिक्कत का सामने करना पड़ता है। वह ज्यादातर समय खासता रहता है। जायर के कोविड—19 संक्रमण के शिकार होने के बाद शायद उनकी ये बीमारी उभर आई है। ऐसे में खास ऐहतियात की आवश्यकता होगी।

Show More
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned