MRI स्कैन तकनीक विकसित करने वाले ब्रिटिश भौतिक विज्ञानी प्रो. जॉन मल्लार्ड का निधन

HIGHLIGHTS

  • चिकित्सा के क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण तकनीक MRI (मैगनेटिक रिजॉनेंस इमेजिंग) को विकसित करने वाले प्रो. मल्लार्ड के निधन की जानकारी एबरडीन विश्वविद्यालय ने दी है।
  • प्रो. मल्लार्ड ने पॉजिट्रॉन एमिशन टोमोग्राफी (पीईटी) इमेजिंग तकनीक के विकास में भी बड़ा योदान दिया है।

लंदन। चिकित्सा के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान देने वाले भैतिक विज्ञानी प्रो. जॉन मल्लार्ड का निधन हो गया। उन्होंने 94 वर्ष की आयु में अंतिम सांस ली। चिकित्सा के क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण तकनीक MRI (मैगनेटिक रिजॉनेंस इमेजिंग) को विकसित करने वाले प्रो. मल्लार्ड के निधन की जानकारी एबरडीन विश्वविद्यालय ने दी है।

प्रो, मल्लार्ड के निधन से भौतिक विज्ञान को काफी क्षति हुई है। मल्लार्ड ने दुनिया को कई ऐसी महत्वपूर्ण तकनीक दी है, जो आज के चिकित्सा विज्ञान के सबसे जरूरी उपकरण बन गया है। प्रो. मल्लार्ड ने MRI विकसित करने वाली टीम का नेतृत्व किया था। MRI दुनिया की ऐसी पहली तकनीक है, जिससे मरीज के पूरे शरीर को एक बार में स्कैन किया जा सकता है।

महज 45 साल की उम्र में हो गया था एक्टर Vinod Mehra का निधन, अपने पीछे छोड़ गए थे दो मासूम बच्चों को

MRI के जरिए ही पूरे शरीर को स्कैन कर रोगों का पता लगाया जाता है। वर्तमान में पूरी दुनिया में MRI तकनीक के जरिए कैंसर, डिमेन्शीअ समेत कई अन्य रोगों के अलावा शरीर पर लगी गंभीर चोट का पता लगाकर उनका इलाज किया जा रहा है।

कई अन्य तकनीक विकसित करने के लिए जाने जाते हैं प्रो. मल्लार्ड

आपको बता दें कि प्रो. मल्लार्ड ने अन्य कई तकनीक का विकास किया है। प्रो. मल्लार्ड ने पॉजिट्रॉन एमिशन टोमोग्राफी (पीईटी) इमेजिंग तकनीक के विकास में भी बड़ा योदान दिया है। PET एक ऐसी परमाणु चिकित्सा इमेजिंग तकनीक है, जो शरीर की कार्यात्मक प्रक्रियाओं की त्रि-आयामी छवियों का उत्पादन कर मानव शरीर में रोगों को पता लगाने की सबसे बेहतर तकनीकों में से एक है।

राजीव कपूर के निधन के बाद रो-रोकर रणबीर कपूर का हुआ बुरा हाल, पिता से ज्यादा चाचा के थे करीब!

प्रो. मल्लार्ड के कार्य को देखते हुए उन्हें कई सम्मान से सम्मानित किया गया है। ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के जन्मदिन पर मल्लार्ड को OBE से सम्मानित किया गया था। 2004 में प्रो. मल्लार्ड को 'फ्रीडम ऑफ द सिटी ऑफ एबरडीन' सम्मान से सम्मानित किया गया था।

एबरडीन विश्वविद्यालय ने प्रो. मल्लार्ड के निधन पर शोक जताया है। एबरडीन यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ मेडिसिन, मेडिकल साइंसेज एंड न्यूट्रीशन विभाग के प्रमुख प्रो. सिलादित्य भट्टाचार्य ने कहा, 'हमें प्रोफेसर जॉन मल्लार्ड के निधन का गहरा दुख है, जिन्होंने अपनी टीम के साथ मिलकर मेडिकल इमेजिंग की दुनिया को बदलने में अहम योगदान दिया। हमारी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned