चीन ने विदेशी छात्रों पर लगाई पाबंदी, केवल 45 कॉलेजों में अंग्रेजी में एमबीबीएस की अनुमति

चीन ने विदेशी छात्रों पर लगाई पाबंदी, केवल 45 कॉलेजों में अंग्रेजी में एमबीबीएस की अनुमति
Doctor

Mohit Saxena | Publish: Oct, 08 2019 01:51:47 PM (IST) | Updated: Oct, 08 2019 02:06:29 PM (IST) विश्‍व की अन्‍य खबरें

  • 200 में से सिर्फ 45 कॉलेजों में ही विदेशी छात्रों को अंग्रेजी में MBBS करने की अनुमति
  • अमरीका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया की तुलना में चीन में MBBS की पढ़ाई का खर्चा कम है

बीजिंग। चीन के मेडिकल कालेज में एमबीबीएस की पढ़ाई को लेकर भारत से हर साल सैकड़ों छात्र दाखिले के लिए आते हैं। इस देखते हुए अब चीन ने दाखिले की सीमा तय कर दी है। अब चीन के 200 में से सिर्फ 45 कॉलेजों में ही विदेशी छात्रों को अंग्रेजी में MBBS करने की अनुमति दी गई है।

चीनी यूनिवर्सिटी में मेडिकल की पढ़ाई के लिए बड़ी संख्या में भारतीय छात्र दाखिला लेते हैं। अमरीका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया की तुलना में चीन में पढ़ाई का खर्चा कम होने के कारण खासकर भारत और एशियाई देशों के विदेशी छात्र यहां आते हैं।

23 हजार भारतीय छात्र अभी चीन में

इस समय 23 हजार से अधिक भारतीय छात्र चीन के विश्वविद्यालय में अलग-अलग विषयों की पढ़ाई कर रहे हैं। पाकिस्तान के 28 हजार छात्र यहां पढ़ाई कर रहे हैं। कुल मिलाकर पांच लाख विदेशी छात्र चीनी यूनिवर्सिटी में पढ़ाई कर रहे हैं। भारत के कुल 23 हजार छात्रों में 21 हजार छात्रों ने MBBS में दाखिला लिया है जो कि एक रिकॉर्ड है।

अन्य कॉलेजों में मेडिकल पढ़ाई की अनुमति नहीं

भारतीय दूतावास ने सोमवार को बताया कि चीनी शिक्षा मंत्रालय ने 45 मेडिकल कॉलेजों को ही विदेशी छात्रों को अंग्रेजी में एमबीबीएस की पढ़ाई की अनुमति दी है । भारतीय दूतावास के अनुसार चीनी शिक्षा मंत्रालय ने स्पष्ट किया है कि 45 यूनिवर्सिटी की सूची में जो यूनिवर्सिटी शामिल नहीं है उन्हें विदेशी छात्रों को एमबीबीएस में दाखिला नहीं देना चाहिए ।

द्विभाषी प्रारूप में MBBS की पढ़ाई पर रोक

चीनी शिक्षा मंत्रालय के अनुसार द्विभाषी (अंग्रेजी/चीनी) प्रारूप के तहत एमबीबीएस की पढ़ाई प्रतिबंधित है। शिक्षा मंत्रालय ने सूचित किया है कि विश्वविद्यालयों की सूची की लगातार समीक्षा की जाएगी और समय-समय पर इसे अपडेट किया जाएगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned