China ने अब रूसी इलाके पर किया दावा, कहा- 1860 से पहले हमारा था व्लादिवोस्तोक

HIGHLIGHTS

  • चीन ( China ) के सरकारी समाचार चैनल CGTN के संपादक शेन सिवई ने दावा किया कि 1860 से पहले रूस का व्लादिवोस्तोक शहर ( Vladivostok City ) पर चीन का अधिकार था।
  • उन्होंने यह भी कहा कि इस शहर को पहले हैशेनवाई ( Hashenwai ) के नाम से जाना जाता था। रूस ने उस वक्त एकतरफा संधि करते हुए चीन से छीन लिया था।
  • कुछ दिन पहले रूस ने चीनी खुफिया एजेंसी ( Chinese Intelligence Agency ) के ऊपर पनडुब्बी से जुड़ी टॉप सीक्रेट फाइल चुराने का आरोप लगाया था।

बीजिंग। चीन की विस्तारवादी नीति ( China's expansionary policy ) के कारण तमाम पड़ोसी देशों के साथ बीजिंग का सीमा विवाद चल रहा है। भारत के साथ लद्दाख सीमा ( Ladakh Border ) पर बढ़ते तनाव के बीच चीन ने अब रूसी इलाके पर अपना दावा ठोक दिया है। चीन ने कहा है कि रूस का व्लादिवोस्तोक शहर ( Vladivostok City ) पहले उसका हिस्सा था।

चीन के सरकारी समाचार चैनल सीजीटीएन के संपादक शेन सिवई ने दावा किया कि 1860 से पहले रूस का व्लादिवोस्तोक शहर पर चीन का अधिकार था। इतना ही नहीं, उन्होंने यह भी कहा कि इस शहर को पहले हैशेनवाई ( Hashenwai ) के नाम से जाना जाता था। रूस ने उस वक्त एकतरफा संधि करते हुए चीन से छीन लिया था।

China से तनातनी के बीच India की Russia से बड़ी डील, 21 MIG-29 समेत 33 फाइटर जेट खरीदेगा भारत

बता दें कि चीन में मीडिया सरकार के नियंत्रण में है। यानी कि सरकार की मर्जी के बिना न तो वे कुछ लिख सकते हैं और न दिखा सकते हैं। ऐसे में सीजीटीएन की ओर से कही गई ये बात काफी महत्वपूर्ण है। इसको लेकर शेन सिवई ( Shen Shiwei ) ने एक ट्वीट भी किया है। हालिया घटनाक्रम को देखें तो रूस और चीन के बीच संबंधों खटास भी आई है।

रूस ने चीन पर लगाए थे सीक्रेट फाइल चुराने के आरोप

आपको बता दें कि कुछ दिन पहले ही रूस ने चीन पर गंभीर आरोप लगाए ( Russia made serious allegations on China ) थे। रूस ने चीनी खुफिया एजेंसी के ऊपर पनडुब्बी से जुड़ी टॉप सीक्रेट फाइल ( Top secret file ) चुराने का आरोप लगाया था। इस संबंध में रूस ने अपने एक नागरिक को गिरफ्तार भी किया था। रूसी सरकार में बड़े ओहदे पर काम करने वाले आरोपी ने पनडुब्बी से जुड़ी सीक्रेट फाइलें चीन को सौंपा था। खुलासा होने के बाद उसे गिरफ्तार किया गया और देशद्रोह का आरोप भी लगाया गया है।

रूस का बड़ा नौसैनिक अड्डा है व्लादिवोस्तोक

आपको बता दें कि व्लादिवोस्तोक रूस का सबसे बड़ा नौसैनिक अड्डा ( Vladivostok Russia's largest naval base ) है। प्रशांत महासागर में तैनात रूसी बेडे का प्रमुख बेस है। व्लादिवोस्तोक रूस के उत्तर-पूर्व में स्थित है, जो कि प्रिमोर्स्की क्राय राज्य की राजधानी है। यह शहर चीन और उत्तर कोरिया की सीमा के काफी नजदीक है।

भारत के खिलाफ PAK-China की साजिश नाकाम! America-Germany ने UNSC में दिया करारा झटका

ऐसे में यह शहर रूस के लिए व्यापारिक और ऐतिहासिक रूप से काफी अहम है। द्वितीय विश्व युद्ध ( second World War ) के दौरान इसी शहर में जर्मनी और रूस की सेनाओं के बीच भीषण युद्ध हुआ था।

पड़ोसी देशों के साथ चीन का तनाव

आपको बता दें कि चीन का अपने सभी पड़ोसी देशों के साथ सीमा विवाद है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, मौजूदा समय में चीन की सीमाएं 14 देशों के साथ लगती है और 14 देशों के साथ विवाद है। लेकिन चीन ये दावा करता है कि 23 देशों के साथ उनकी सीमा मिलती है।

तजाकिस्तान, किर्गिज़स्तान, अफगानिस्तान, पाकिस्तान, भारत, नेपाल, भूटान, म्यांमार, लाओस, वियतनाम, उत्तरी कोरिया, मंगोलिया, रूस, कजाकिस्तान के साथ चीन का सीमा विवाद है।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned