Christchurch attack के बाद न्यूजीलैंड सरकार का बड़ा कदम, बंदूकों को वापस खरीदने की योजना शुरू

  • Christchurch attack के बाद न्यूजीलैंड सरकार का हथियारों के प्रसार को रोकने का संकल्प
  • छह महीने के अंदर सभी को अपने पास मौजूद बंदूक वापस जमा कराना होगा

वेलिंगटन। कुछ समय पहले न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च ( Christchurch Attack ) में एक मस्जिद पर हुए हमले के बाद सरकार ने एक बड़ा कदम उठाया है। इस बड़े हमले के बाद देशभर में खतरनाक हथियारों पर लगाम लगाने के लिए बंदूकों को वापस खरीदने ( Gun buy back ) की प्रक्रिया शुरू की गई है। गुरुवार को सरकार ने इस योजना की शुरुआत की। बता दें कि बीते 15 मार्च को क्राइस्टचर्च पर हमला किया गया था, जिसमें 51 नमाजियों की निर्मम हत्या हुई थी।

खतरनाक हथियारों के प्रसार पर लगेगा रोक

प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ( New Zealand PM Jacinda Ardern ) ने उसी दौरान यह संकल्प लिया था कि अब हथियार कानून को और सख्त बनाने पर जोर दिया जाएगा। तीन महीने इस पर सक्रियता से काम करने के बाद सरकार ने आखिरकार इसके लिए एक उपाय ढूंढा और उसपर काम शुरू कर दिया। इस बारे में बात करते हुए पुलिस मंत्री स्टुअर्ट नैश ने कहा, 'अलनूर और लिकुड मस्जिदों में हुई मौतों के बाद हथियारों को वापस खरीदने की इस योजना को शुरू किया गया है। इसका एकमात्र उद्देश्य है कि देश में खतरनाक हथियारों के प्रसार पर रोक लगाना है।'

New Zealand Christchurch Attack का वीडियो साझा करने वाले शख्स को 21 महीने जेल की सजा

Christchurch Shooting

Christchurch attack: आरोपी की कोर्ट से अपील, सभी 92 मामलों पर न चलाया जाए मुकदमा

नियम का उल्लंघन करने वाले को पांच साल की कैद

नई योजना के तहत अब किसा का भी हथियार रखना अवैध माना जाएगा। साथ ही जिनके पास लाइसेंसी हथियार हैं, उन्हें छह महीने के अंदर जमा कराना होगा। इस अवधि के दौरान जो हथियार जमा कराएंगे उनपर किसी तरह की कार्रवाई नहीं की जाएगी। लेकिन एक बार यह मोहलत खत्म हुई तो प्रतिबंधित हथियार रखने वाले को पांच साल तक की कैद हो सकती है।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

 

Show More
Shweta Singh Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned