मॉस्को: कोरोना वायरस के मरीजों का इलाज करने वाले अस्पताल में आग, एक की मौत

Highlights

  • करीब 200 अन्य मरीजों को बाहर निकाल लिया गया।
  • आग लगने के कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है।
  • अस्पताल में एक रोगी के कमरे में विस्फोट होने की बात बताई जा रही।

मास्को। कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित मरीजों का इलाज करने वाले मॉस्को (Moscow) स्थित एक अस्पताल में शनिवार को आग लग गई। इससे एक मरीज की मौत हो गई और करीब 200 अन्य मरीजों को बाहर निकाल लिया गया। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार शहर के उत्तरी हिस्से में मौजूद इस अस्पताल में लगी आग पर काबू पा लिया गया है।

आग लगने के कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है। आग अस्पताल के उस वार्ड में लगी, जहां कोरोना वायरस के मरीजों का इलाज चल रहा था। मेयर सर्गेई सोबियानिन ने अपने एक ट्वीट में एक मरीज की मौत की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि जिन मरीजों को अस्पताल से निकाला गया है, उन्हें दूसरे अस्पतालों में भर्ती कराया जाएगा। अभी तक ये नहीं पता चला है कि बाहर निकाले गए कितने मरीज कोविड-19(Covid-19) से संक्रमित हैं।

अधिकारियों द्वारा रूसी राजधानी में कोरोना वायरस रोगियों का इलाज करने वाली चिकित्सा सुविधाओं में से एक के रूप में नामित किया गया था। आपातकालीन मंत्रालय की रिपोर्ट में बताया गया कि अस्पताल में एक रोगी के कमरे में विस्फोट हुआ है।

मॉस्को और कई अन्य क्षेत्रों में कोरोनो वायरस के प्रसार को रोकने के लिए मार्च के अंत से लॉकडाउन लगाया गया है। कोरोना से अब तक लगभग दो लाख लोगों को संक्रमित कर चुका है और रूस में 1,800 से अधिक लोगों की मौत का कारण बना है। देश के आधे से अधिक मामलों और मौतों को मॉस्को में दर्ज किया गया है।

COVID-19 COVID-19 virus
Show More
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned