आसमान से बरसी मौत, जापान में बारिश ने ले ली 52 और पाकिस्तान में 7 की जान

  • जापान के क्यूशू इलाके में मंगलवार को बारिश ( heavy rain in japan ) से मरने वालों की संख्या ( Rain Killed People ) बढ़कर 52 हो गई। अलर्ट ( heavy rainfall alert ) जारी।
  • पाकिस्तान के कराची में बारिश ( rain in Pakistan ) के कारण 7 लोगों की मौत हो गई।
  • बिहार में आसमानी बिजली गिरने ( lightining strike ) सेे सात लोगों की जान चली गई।

टोक्यो/कराची। कोरोना वायरस महामारी से जूझ रही दुनिया में अब बारिश भी कहर बन रही है। आलम यह है कि जापान और पाकिस्तान में आसमान से बारिश मौत की तरह बरसी और कम से कम 59 लोगों की जान ( Rain Killed People ) ले ली। वहीं, बिहार में आसमानी बिजली गिरने ( lightining strike ) का सिलसिला जारी है और मंगलवार को इसने सात लोगों को हमेशा की नींद सुला दिया।

जानकारी के मुताबिक जापान के क्यूशू इलाके में मूसलाधार बारिश ( heavy rain in japan ) ने कहर बरपाया हुआ है। मंगलवार को यहां मरने वालों की संख्या बढ़कर 52 हो गई है। दूसरी तरफ ओइता प्रांत में चिकूगो नदी में उफान आने के चलते सरकार ने अलर्ट ( heavy rainfall alert )जारी कर दिया है।

प्रशासनिक अधिकारियों के हवाले से द जापान टाइम्स समाचार पत्र ने बताया कि मूसलाधार बारिश के चलते कुमामोटो प्रांत में सबसे ज्यादा 51 लोगों की जान गई है। वहीं, यहां के 11 लोग लापता हैं। जबकि बारिश में जान गंवाने वाला 52वां व्यक्ति एक महिला है। इस महिला की मौत ओमुता, फुकुओका प्रांत में हुई है। महिला सोमवार रात अपने जलमग्न घर में मिली थी। मंगलवार को वहां के अस्पताल ने महिला की मौत की पुष्टि की।

ओमुता में बाढ़ के कारण दो बचाव केंद्रों पर लगभग 200 लोग फंसे हुए थे। बता दें कि बीते चार जुलाई को तड़के शुरू हुई मूसलाधार बारिश के चलते मृतकों की संख्या में ईजाफा होने की आशंका है। भूस्खलन और बाढ़ की चपेट में आए इलाकों में लापता लोगों की तलाश करने के प्रयास जारी हैं।

पाकिस्तान में 7 की मौत, कई घायल

वहीं, पाकिस्तान के कराची शहर में बारिश ( rain in Pakistan ) के चलते कम से कम सात लोग मारे गए और कई लोग घायल हुए हैं। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक कराची में बारिश के कारण बिजली गिरने, छत गिरने और पेड़ों के उखड़ने जैसी कई घटनाएं हुईं। इनमें 7 लोगों की मौत हो गई। पाकिस्तान मौसम विभाग के मुताबिक कराची में 43 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई। बारिश के साथ तेज हवाओं ने कई इलाकों में बहुत कहर बरपाया। बारिश के चलते शहर के कई निचले इलाकों में पानी भर गया है।

बारिश के पानी के चलते राजमार्गों और अन्य सड़कों के डूबने से कई इलाकों में सड़क यातायात भी प्रभावित हुआ है। इतना ही नहीं इलाके कराची के कई इलाकों में घंटों बिजली आपूर्ति तक ठप रही। सिंध प्रांत के आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने कराची शहर समेत अन्य इलाकों में शहरी बाढ़ का अलर्ट ( flood alert ) जारी किया है। जबकि मौसम विभाग ने अगले दो दिनों तक कराची में इससे अधिक बारिश होने का अनुमान लगाया है।

अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned