फ्रांस से भारत को मिला पहला रफाल, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बोले- 2022 तक मिल जाएंगे सभी 36 विमान

फ्रांस से भारत को मिला पहला रफाल, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बोले- 2022 तक मिल जाएंगे सभी 36 विमान

Anil Kumar | Updated: 09 Oct 2019, 09:31:04 AM (IST) विश्‍व की अन्‍य खबरें

  • फ्रांस ने भारत को पहला रफाल लड़ाकू विमान सौंप दिया है
  • फ्रांस की रक्षा मंत्री ने राजनाथ सिंह को सौंपा विमान
  • 2022 तक आ जाएंगे सभी 36 रफाल विमान

पेरिस। पूरे भारत में जहां आज बुराई पर अच्छाई की जीत का पर्व विजयदशमी मनाया जा रहा है वहीं, भारत के लिए एक और खास दिन है। देश की शान वायुसेना का 87वां ‘वायुसेना दिवस’ मना रहे भारत को आज देश का पहला रफाल लड़ाकू विमान RB 0001 मिल गया। रफाल एक फ्रेंच शब्द है, जिसका अर्थ होता है आंधी।

LIVE UPDATES:

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने उड़ान भरकर लौटने के बाद कहा कि यह उड़ान बेहद रोमांचक और बहुत आरामदायक रही। मैंने यह कभी नहीं सोचा था कि एक दिन मैं किसी सुपर सोनिग स्पीड एयरक्राफ्ट में उडूंगा। यह पल बहुत ही बेमिसाल और अनौखा था।

उन्होंने कहा कि हमें 2022 तक सभी 36 रफाल मिल जाएंगे।

- रक्षामंत्री राजनाथ सिंह करीब आधे घंटे तक रफाल में उड़ान भरने के बाद मेरीनेक एयरबेस पर उतरे

- इस दौरान उनके साथ दसॉ एविएशन के हेड टेस्ट पायलट फिलिप ड्यूचेटो रहे

- करीब आधे घंटे तक उड़ान भरने के बाद रनवे पर उतरा रफाल

- मेरीनेक एयरबेस से भरी उड़ान

- करीब आधे घंटे तक रफाल में भरेंगे उड़ान

- राजनाथ सिंह ने रफाल से भरी उड़ान

- कुछ ही देर में रफाल से उड़ान भरने वाले हैं राजनाथ सिंह

- कॉकपिट में बैठ चुके हैं राजनाथ सिंह

- रक्षामंत्री राजनाथ सिंह रफाल में उड़ान भरने के लिए तैयार हैं

- भारत को रफाल सौंपने के मौके पर दसॉ एविएशन के सीईओ Eric Trappier ने कहा कि आज हमारे लिए गर्व का पल है। उन्होंने कहा कि भारतीय वायुसेना के लिए आज का दिन बहुत बड़ा है।

- Eric Trappier ने कहा कि हमने वही किया जो दोनों देशों के बीच करार में था। भारत का पहला रफाल विमान उड़ान भरने के लिए तैयार है।

- रफाल विमान पर ऊं लिखकर राजनाथ सिंह ने की पूजा

- पहिए के आगे रखा गया नींबू

- राजनाथ सिंह ने की रफाल की शस्त्र पूजा

- राजनाथ सिंह राफेल का शस्त्र पूजन करने के बाद उड़ान भरेंगे

- करीब आधे घंटे तक रफाल में भरेंगे उड़ान

- राजनाथ सिंह थोड़ी देर में भरेंगे उड़ान

- फ्रांस के रक्षा मंत्री ने राजनाथ सिंह को सौंपा विमान

- फ्रांस ने भारत को पहला रफाल मिल गया है

- भारत को पहला रफाल मिल गया है

- राजनाथ सिंह ने फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति जैक्स शिराक और भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि अर्पित की

- भारत-फ्रांस रणनीतिक साझेदारी के लिए 8 अक्टूबर का दिन मील का पत्थर है

- आज का दिन दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय रक्षा सहयोग के नई ऊंचाई पर पहुंचने का प्रतीक है

- पूर्व राष्ट्रपति जैक्स शिराक ने पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी के साथ मिलकर भारत और फ्रांस के बीच रणनीतिक साझेदारी की आधारशिला रखी थी

- आज का दिन भारत-फ्रांस के रिश्तों में मिल का पत्थर साबित होगा

- भारत-फ्रांस के कूटनीतिक रिश्ते बहुत मजबूत हैं

- थोड़ी देर में रफाल में उड़ान भरूंगा

- रफाल में उड़ान भरना मेरे लिए सम्मान की बात होगी

- तय समय से पहले भारत को मिल रहा है रफाल

- रफाल से भारतीय वायुसेना की ताकत बढ़ेगी

- भारतीय वायुसेना के लिए आज का दिन एतिहासिक

- रक्षामंत्री राजनाथ सिंह मेरीनेक एयरबेस में संबोधित कर रहे हैं

- भारत को रफाल सौंपने की प्रक्रिया जारी

- रफाल बनाने वाली कंपनी दसॉ एविएशन के प्लांट में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह पहुंचे, जहां पर सीईओ Nric Trappier ने उनका स्वागत किया।

- पेरिस से 600 किलोमीटर दूर है मेरीनेक एयरबेस

- मेरीनेक एयरबेस में मौजूद हैं राजनाथ सिंह

- राजनाथ सिंह ने रफाल युनिट का किया दौरा

- रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह मेरीनेक पहुंच चुके हैं

- रफाल की पहली तस्वीर सामने आ गई है

- कुछ देर बाद यह विमान भारत को सौंप दिया जाएगा

भारत-फ्रांस के बीच 36 रफाल जेट सौदा

भारत और फ्रांस के बीच करीब 59 हजार करोड़ रुपये मूल्य पर 2016 में 36 रफाल के लिए करार हुआ था। यह सभी लड़ाकू विमान 2022 तक भारत में आएंगे। फिलहाल भारत को चार विमान सौंपे जाएंगे। इसके बाद चार-चारकी किस्त में कुल 32 विमान भारत को सौंपे जाएंगे।

भारत को मिलने वाले 36 रफाल में से 18 को अंबाला एयरबेस पर तैनात किया जाएगा, जबकि बाकी 18 को पश्चिम बंगाल के हाशीमारा बेस पर तैनात किया जाएगा।

मेरिगन्क के लिएरवाना हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह विमान को लेने के लिए पेरिस से मेरिगन्क (बोर्डोक्स) के लिए फ्रांसीसी वायुसेना के विमान में रवाना हो गए हैं, जहां पर आधिकारिक कार्यक्रम में भारत को रफाल विमान सौंपा जाएगा। बताया जा रहा है कि भारतीय समयानुसार शाम साढ़े चार बजे समारोह आयोजित होगा, जहां पर रफाल को सौंपा जाएगा।

राजनाथ सिंह सबसे पहले शस्त्र पूजा करेंगे और बाद में कार्यक्रम में शामिल होंगे। साथ ही रफाल में वे उड़ान भी भरेंगे। बता दें कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ फ्रांसीसी सेना के कई अधिकारी भी मौजूद हैं।

भारत को आज चार रफाल मिल जाएंगे, लेकिन यह सभी अगले साल मई-जून तक भारत आएंगे। इस दौरान 10 भारतीय पायलटों को फ्रांस में रफाल उड़ाने को लेकर ट्रेनिंग दी जाएगी। इनके अलावा इंजीनियरों और तकनीशियनों की भी एक टीम होगी यानी कुल 50-60 लोग होंगे।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांसीसी राष्ट्रपति मैक्रों से की मुलाकात

आपको बता दें कि रफाल लेने के लिए फ्रांस पहुंचे राजनाथ सिंह ने मंगलवार को फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुअल मैंक्रो से दोपहर में मुलाकात की। मैक्रों और राजनाथ सिंह की ये बैठक करीब 35 मिनट तक चली। बातचीत के दौरान भारत की ओर से 8 लोग शामिल हुए।

मुलाकात के दौरान फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों ने कहा के भारत और फ्रांस मिलकर इस्लामिक आतंक के खिलाफ पूरी ताकत से लड़ेंगे।

delegation.jpg

राजनाथ सिंह के कार्यक्रम

आपको बता दें कि विजयदशमी के मौके पर भारत में शस्त्र पूजा का विधान है। इसी का पालन करते हुए राजनाथ सिंह शस्त्र पूजा करेंगे।

मंगलवार को मिलेगा भारत को पहला रफाल, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह विमान में भरेंगे उड़ान

भारतीय समयानुसार राजनाथ सिंह शाम के शाम 5.30 बजे मेरिगन्क में रफाल विमान में उड़ान भरेंगे और फिर से रिसीव करेंगे। रात के 10 बजे पेरिस में फ्रांस के कई मंत्रियों के साथ मुलाकात करेंगे।

क्यों खास है रफाल

भारत को मिलने वाला रफाल कई मायनों में खास है। इससे भारतीय वायुसेना की ताकत बढ़ जाएगी। भारत को जो विमान मिलने वाला है, उसका टेल नंबर RB-01 है। इस नंबर के पीछे एक खास महत्व है।

दरअसल, फ्रांस के साथ रफाल सौदे में बड़ी भूमिका निभाने वाले मौजूदा वायुसेना चीफ राकेश सिंह भदौरिया के नाम पर रखा गया है।

वायुसेना दिवस से लेकर राजनाथ सिंह के राफेल विमान में उड़ान भरने तक इस घंटे की बड़ी ख़बरें

रफाल विमान को एयर मार्शल वीआर चौधरी की अगुवाई में एयरफोर्स ऑफिसर की टीम ने फ्रांस से रिसीव किया है।

भारत फ्रांस, मिस्र और कतर के बाद चौथा देश हैं, जिनके पास आकाश में रफाल विमान होगा। फ्रांसीसी लड़ाकू विमान रफाल 4.5वीं पीढ़ी का विमान है जिसमें रडार से बच निकलने की ताकत है।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned