70 से भी ज़्यादा मर्डर कर चुका था ये शख्स, यूनिवर्सिटी में इस वजह से रखा गया है कटा सिर

कोशिशों के बाद भी जब वो नाकामयाब रहे तो उन्होने अपराध की दुनिया में कदम रख दिया।

नई दिल्ली। हमें पता है कि प्राचीनकाल में मिस्त्र में इंसान के मर जाने के बाद उसके शवों को प्रिजर्व करके रखा जाता था जिसके चलते आज भी हमें कई जगहों से ममी मिलते रहते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि दुनिया में एक सीरियल किलर के सिर को पिछले डेढ़ सौ सालों तक प्रिजर्व करके रखा गया है। जी,हां पूर्तगाल की एक यूनिवर्सिटी में एक सीरियल किलर के सिर को यहां पर रखा गया है। इस सीरियल किलर का नाम था डियेगो ऐल्वेस जो कि नौकरी की तलाश में लिस्बन आया था लेकिन बाद में ये दुनिया का सबसे खूंखार सीरियल किलर बन गया।

Serial killer

डियेगो का जन्म साल 1810 में स्पेन में हुआ । इसके बाद डियेगो काम की तलाश में पूर्तगाल आए लेकिन काफी कोशिशों के बाद भी वो नाकामयाब रहें। कोशिशों के बाद भी जब वो नाकामयाब रहे तो उन्होने अपराध की दुनिया में कदम रख दिया। डियेगो सबसे पहले लूटपाठ का रास्ता चुना जिसमें वो अकेले जाने वाले किसानों से अनाज इत्यादि को लूठ लेता था और बाद में उसकी हत्या कर उसके शव को नदी में फेंक देता था। अपने इस काम के लिए उसने लिस्बन में स्थित एक पुल को चुना जहां शाम के वक्त अक्सर किसान जाया करते थें। डियेगो इस पुल में से हज़ारों किसानों की हत्या कर उसे शव को फेंक देता था।

Serial killer

पुलिस जब इन हत्याओं की जांच करने लगी तो डियेगो अंडरग्राउंड हो गया। इसके बाद डियेगो अपने गैंग को बड़ा बनाने के लिए ऐसे लोगों को निशाना बनाया जो कि निम्न वर्ग के थें। इन लोगों को इक_ा कर उसने एक अच्छा खासा गैंग बनाया और बड़े वारदातों को अंजाम देने लगा। पुलिस से बचने के लिए उसने
काफी हथियार भी खरीदें। लिस्बन पुलिस का कहना था कि लोगों को कू्ररता से मारने में उसे आनंद आता था। एकबार डियेगो अपने गैंग के साथ लिस्बन के एक डॉक्टर के घर में जा पहुंचा और उसकी बड़ी ही बेरहमी से हत्या कर दी। पुलिस को जब इस घटना की जानकारी मिली तो उन्होंने डियेगो को घटनास्थल के आसपास के सभी इलाकों में ढ़ूढ़ा और उसे पकडऩे में सफल हुआ। साल 1941 में डियेगो को 70 से अधिक व्यक्तियों की बेरहमी से हत्या के जुर्म में फांसी की सज़ा सुनाई गई लेकिन आज तक उसके सिर को प्रिजर्व करके रखा गया है।

Serial killer
Ravi Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned