डोनाल्ड ट्रंप ने उड़ाया भारत, चीन और रूस का मजाक, कहा- प्रदूषण से लड़ने में फिसड्डी हैं ये देश

डोनाल्ड ट्रंप ने उड़ाया भारत, चीन और रूस का मजाक, कहा- प्रदूषण से लड़ने में फिसड्डी हैं ये देश

Siddharth Priyadarshi | Publish: Jun, 06 2019 01:59:54 PM (IST) | Updated: Jun, 06 2019 06:39:34 PM (IST) विश्‍व की अन्‍य खबरें

  • यूके के बाद आयरलैंड के दौरे पर हैं अमरीकी राष्ट्रपति ट्रंप
  • एक स्थानीय टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में ट्रंप ने साधा इन देशों पर निशाना
  • जी-20 सम्मलेन से पहले इन देशों पर दबाव बनाने की कोशिश

लंदन। यूके और आयरलैंड के दौरे पर आए अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ( Donald Trump ) ने भारत, चीन और रूस का जमकर मजाक उड़ाया है। अपनी टिप्पणियों से आए दिन सुर्खियों में रहने वाले डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। भारत और चीन का मजाक उड़ाते हुए ट्रंप ने दावा किया कि संयुक्त राज्य अमरीका दुनिया में सबसे साफ जलवायु वाले देशों में एक है।

 

 

Donald Trump In Ireland

क्या कहा ट्रंप ने

एक कार्यक्रम में बोलते हुए अमरीकी राष्ट्रपति ने कहा कि भारत, चीन और रूस के पास प्रदूषण से लड़ने की कोई भावना नहीं है। उन्होंने आरोप लगाया कि भारत, चीन पर्यावरण के प्रति जिम्मेदारियों को पूरा नहीं करते हैं। उन्होंने यह भी दावा किया कि अमरीका के पास दुनिया में सबसे साफ जलवायु है। बता दें कि डोनाल्ड ट्रम्प ब्रिटेन की तीन दिन की राजकीय यात्रा पर थे। उसके बाद वह आयरलैंड पहुंचे हैं।

यह भी पढ़ें- बकिंघम पैलेस में अमरीकी राष्ट्रपति का शानदार स्वागत! शाही परिवार के साथ इस अंदाज में नजर आए ट्रंप

Trump with Modi

मेक्सिको पर कर लगाने की ट्रंप की कोशिशों को बड़ा झटका, राष्ट्रपति से टकराव के मूड में कई रिपब्लिकन सांसद

उन्होंने कहा कि भारत, चीन और रूस जैसे देशों के पास न तो शुद्ध हवा है न ही पीने को साफ पानी। उन्होंने सीधे-सीधे आरोप लगाया कि ये देश पर्यावरण के प्रति अपनी जिम्मेदारियों को पूरा नहीं करते हैं। ट्रंप ने ब्रिटिश चैनल ITV को दिए एक साक्षात्कार में यह टिप्पणी की। ट्रंप ने जलवायु परिवर्तन पर पेरिस समझौते के तहत अपने देश में कई सारे बदलाव लाने का दावा किया और कहा कि यूएस दुनिया में "सबसे साफ जलवायु" वाले देशों में से एक है।

Trump with Xi Jinping

जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर घेरने की कोशिश

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने असल में इस कदम के जरिये जलवायु परिवर्तन पर अन्य बड़ी अर्थव्यवस्थाओं पर हमला किया है। उन्होंने दावा किया है कि संयुक्त राज्य अमरीका सबसे साफ जलवायु वाला देश है। ट्रंप ने कहा कि वह जो भी कह रहे हैं सभी आंकड़ों पर आधारित तथ्य हैं। ट्रंप ने कहा, "अगर आप इन देशों के कुछ शहरों में जाते हैं तो आप ठीक से साँस भी नहीं ले सकते।"

यह भी पढ़ें- क्यूबा और अमरीका के बीच दोबारा पनपा तनाव, निकोलस मादुरो को समर्थन देने से ट्रंप नाराज

आपको बता दें कि अपनी ब्रिटेन यात्रा के दौरान ट्रंप ने प्रिंस चार्ल्स के साथ पर्यावरण के विनाश और जलवायु परिवर्तन के प्रभाव के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए बातचीत की। ट्रंप ने पेरिस समझौते के बारे में अपने पूर्ववर्ती बराक ओबामा के फैसलों पर पलटवार किया था और कहा कि यह समझौता एक बुरा सौदा है और इससे अमरीकी हितों को बहुत नुकसान पहुंचा है।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned