इक्वाडोर: भूकंप के अब तक 272 की मौत, 2068 लोग घायल

इक्वाडोर: भूकंप के अब तक 272 की मौत, 2068 लोग घायल

इक्वाडोर में व्यवस्था बनाए रखने के लिए 13 हजार 500 सुरक्षाबलों के अलावा रेड क्रॉस के 800 सेवकों को तैनात किया गया

मनाता (इक्वाडोर)। इक्वाडोर में रविवार को आए 7.8 तीव्रता वाले भीषण भूकंप से मरने वालों की संख्या 272 तक पहुंच गई है, जबकि 2068 लोग घायल हो गए और बड़े पैमाने पर संपत्ति को नुकसान पहुंचा है। विनाशकारी भूकंप के कारण अपनी इटली की यात्रा बीच में छोड़कर स्वदेश लौटे राष्ट्रपति राफेल कोरेया ने देश को दिए संबोधन में मृतकों की संख्या 272 तक पहुंचने की पुष्टि की और साथ ही कहा कि इस त्रासदी में कुल 2068 लोग घायल हुए हैं, जिसकी वजह से मृतकों की संख्या अभी और अधिक बढऩे की आशंका है।

मलबे के ढेर में तब्दील हुआ पेडरनालेस
राष्ट्रपति का यह संदेश भारतीय समयानुसार आज प्रसारित किया गया । उन्होंने कहा कि पहली प्राथमिकता मलबे में दबे लोगों को बचाना है। उन्होंने कहा कि सब कुछ फिर से नया बनाया जा सकता है, लेकिन लोगों के जीवन को वापस नहीं लाया जा सकता। कोरेया ने देशवासियों से शांति और धैर्य से काम लेने की अपील करते हुए भूकंप में मरने वालों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की। भूकंप के केंद्र के पास के तटवर्ती इलाकों में ज्यादा तबाही मची है। ऐसा ही तटवर्ती इलाका है पेडरनालेस, जो भूकंप आने के पहले तक अपने खूबसूरत बीच और नारियल के पेडों के कारण पर्यटकों के आकर्षण का मुख्य केंद्र होता था, लेकिन अब यह मलबे के ढेर में तब्दील हो गया है। प्रशासन के अनुसार इस इलाके में भूकंप के तेज झटके के बाद लगभग 160 हल्के झटके महसूस किए गए, जिसके कारण यहां ज्यादा तबाही मच गयी। यहां कई लोग अब भी मलबे में फंसे हैं।

पुलिस प्रमुख जनरल मिल्टन जराटे के मुताबिक यहां लगभग 91 लोग मारे गए और 60 प्रतिशत से अधिक घर ढह गए। इक्वाडोर में व्यवस्था बनाए रखने के लिए 13 हजार 500 सुरक्षाबलों के अलावा रेड क्रॉस के 800 स्वयंसेवकों को तैनात किया गया है।

पांच प्रांतों में आपातकाल की घोषणा
भूकंप के बाद देश के पांच प्रांतों में आपातकाल घोषित कर दिया गया है। प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार भूकंप का केन्द्र देश के उत्तर पश्चिमी प्रशान्त तट पर था और इससे सर्वाधिक नुकसान सबसे बड़े वाणिज्यिक शहर गुयाक्विल को पहुंचा है। तेज भूंकप के बाद समुद्र में ऊंची लहरे उठने की आशंका है। लोगों को तटीय इलाकों को छोड़कर सुरक्षित स्थानों पर जाने की सलाह दी गई है। इक्वाडोर में दशकों बाद इतना भीषण भूकंप आया है। आपात एवं राहत सेवा के अधिकारियों ने मृतकों की संख्या में इजाफा होने की आशंका जतायी है।

भूकंप के बाद लूट की घटनाएं शुरु
गुयाक्विल के सुरक्षा गार्ड फरनाडो ग्रासिया ने कहा कि यह बेहद ही भयावह मंजर है । हम अभी भी डरे हुए हैं और सड़कों पर ही हैं । हमें आशंका है कि भूकंप के बाद के झटके आ सकते हैं। भूकंप के केन्द्र के पास स्थित पेडरनल शहर के मेयर गाबरियेए अल्सिवर ने कहा कि12 से अधिक इमारतें ध्वस्त हो गयी और लूट की घटनाएं शुरू हो गयी हैं। हम राहत एवं बचाव कार्यों में जी जान से जुटे हुए हैं । भूकंप से केवल मकान ही नहीं गिरे हैं बल्कि पूरा शहर ध्वस्त हुआ है। इक्वाडोर की सरकार ने वर्ष 1979 में आए भूकंप के बाद इसको सर्वाधिक नुकसान वाला भूकंप करार दिया है, जिसमें करीब 600 लोग मारे गए थे और 20 हजार घायल हुए थे।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned