इक्वेटोरियल गिनी: बाटा शहर में हुए विस्फोट से अब तक 98 की मौत, राष्ट्रपति ने दिए जांच के आदेश

HIGHLIGHTS

  • Bata city explosion: स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बयान में कहा है कि इस घटना के 48 घंटे बाद भी मलबे में शवों की तलाश जारी है। ऐसे में मरने वालों की संख्‍या अभी बढ़ सकती है।
  • राष्ट्रपति तियोदोरा ओबियांग न्‍गुमे ने इस घटना पर रोष जताते हुए कहा कि विस्‍फोट के लिए जिम्‍मेदार लोगों पर सख्‍त कार्रवाई की जाएगी।

बाटा। अफ्रीकी देश इक्वेटोरियल गिनी के बंदरगाह शहर बाटा में रविवार को हुए एक के बाद एक विस्फोट से अब तक 98 लोगों की मौत हो चुकी है। बताया जा रहा है कि भी भी मरने वालों की संख्या में इजाफा हो सकता है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बयान में कहा है कि इस घटना के 48 घंटे बाद भी मलबे में शवों की तलाश जारी है। ऐसे में मरने वालों की संख्‍या अभी बढ़ सकती है।

मंत्रालय ने आगे कहा कि विस्फोट की वजह से मरने वालों की संख्य शुरुआती अनुमान से तीन गुना अधिक है। इस दर्दनाक घटना को लेकर इक्वेटोरियल गिनी के राष्ट्रपति ने जांच के आदेश दे दिए हैं। राष्ट्रपति तियोदोरा ओबियांग न्‍गुमे ने इस घटना पर रोष जताते हुए कहा कि विस्‍फोट के लिए जिम्‍मेदार लोगों पर सख्‍त कार्रवाई की जाएगी।

पश्चिम बंगाल : दक्षिण 24 परगणा में बम विस्फोट, 6 बीजेपी कार्यकर्ता घायल

शुरुआती जांच पड़ताल के बाद मिली जानकारी के आधार पर राष्ट्रपति ओबियांग ने कहा कि डायनामाइट से निपटने में लापरवाही के कारण विस्‍फोट की घटना हुई है। उन्होंने कहा कि इस घटना से बाटा शहर के सभी इमारतों और घरों को भारी नुकसान पहुंचा है। राष्ट्रपति ओबियांग ने अनुमान जताया है कि इस घटना से करीब 250,000 लोग प्रभावित हुए हैं।

सैन्य परिसर में हुए थे चार विस्फोट

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, रविवार को इक्वेटोरियल गिनी के बाटा स्थित सैन्य परिसर में एक के बाद एक चार विस्फोट हुए थे। इस विस्फोट ने गिनी के सबसे बड़े शहर और मुख्य आर्थिक केंद्र बाटा को हिलाकर रख दिया था। स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को अनुमान लगाया था कि इस घटना में करीब 31 लोगों की मौत हुई है, लेकिन दो दिन बाद मरने वालों की संख्या अनुमान से तीन गुना अधिक हो चुका है और मलबे में अभी भी शवों की तलाश की जा रही है।

जवानों को उड़ाने के लिए नक्सलियों ने लगाया बम, विस्फोट से खुद के ही उड़ गए चिथड़े

उप-राष्ट्रपति पद का हवाला देते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय ने ट्वीट किया कि इस घटना में कम से कम 615 लोग घायल हुए हैं। इनमें से 299 को अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि इस विस्फोट के बाद जो नुकसान हुआ वह सिर्फ शारीरिक और आर्थिक नहीं है, बल्कि इसका मानसिक रूप से घातक असर पड़ा है।

बता दें कि इक्वेटोरियल गिनी की आबादी 14 लाख के करीब है और यहां पर लंबे समय से राष्ट्रपति ओबियांग शासन कर रहे हैं। गिनी काफी लंबे समय तक स्‍पेन का उपनिवेश भी रहा है।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned