अमरीका: कोरोना वायरस के कारण 9/11 स्मरणोत्सव में पीड़ितों के परिजनों को शामिल होने की इजाजत नहीं

Highlights

  • पेंटागन के स्मृति कार्यक्रम में पीड़ितों के परिजन को शामिल होने की इजाजत नहीं दी गई।
  • अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) और डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बिडेन यहां पहुंचेंगे।

न्यूयार्क। अमरीका में कोरोना वायरस (Coronavirus) के प्रकोप के कारण 9/11 की बरसी को बड़े ही ऐहतिहात से मनाया गया। सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए लोगों को बढ़ी तादात में यहां पर एकत्र होने नहीं दिया गया। न्यूयार्क में शुक्रवार को दो स्थानों पर स्मृति कार्यक्रम का आयोजन किया गया। एक वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर बने मेमोरियल प्लाजा में और दूसरा नजदीक बने एक स्मारक के पास।

पेंटागन के स्मृति कार्यक्रम में पीड़ितों के परिजन को शामिल होने की इजाजत नहीं दी गई। लोग छोटे समूहों में शाम के वक्त वहां बने स्मारक पहुंच सकते हैं। अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) पेन्सिलवेनिया में शेंक्सिविले स्थित 'फ्लाइट 93 नेशनल मेमोरियल' पहुंचे। डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बिडेन भी यहां पहुंचेंगे।

ट्रंप और बिडेन का स्मृति कार्यक्रम में शामिल होंगे। वे इस स्थान के राजनीतिक महत्व को नजरअंदाज नहीं कर सकते हैं। चुनाव में पेन्सिल्वेनिया में जीतना दोनों के लिए काफी अहम है। 2016 में ट्रंप यहां से जीते थे लेकिन जीत का अंतर एक फीसदी अंक से भी कम था। उप राष्ट्रपति माइक पेंस भी यहां पर पहुंचेंगे।

इस वर्ष 9/11 की बरसी के मौके पर कोरोना संकट की वजह से कार्यक्रम में पहुंचना कठिन है। अमरीका में स्वास्थ्य संकट बरकरार है। वहीं दूसरी ओर नस्लवाज को लेकर भी प्रदर्शन् चल रहे हैं। इस आतंकी घटना के पीड़ितों का कहना है कि इस दिन कभी भी भुलाया नहीं जा सकता है। इसने ही अमरीकी नीति को आकार दिया है। इसके बाद से ही आतंकवाद के प्रति सभी देशों का नजरिया साफ हुआ। अमरीका में सुरक्षा व्यवस्था को खास तरजीह दी गई। अमरीका ने आतंकवाद का पल विरोध किया। इमारतों तक सुरक्षा और दैनिक जीवन को लेकर नजरिए में बदलाव सामने आए।

कई जगह 9/11 स्मरणोत्सव रद्द

बहरहाल, देशभर में कई जगह 9/11 स्मरणोत्सव कोरोना वायरस के कारण रद्द करना पड़ा। अमरीका में 11 सितंबर, 2001 को अगवा किए विमानों की मदद से वर्ल्ड ट्रेड सेंटर को ध्वस्त कर दिया गया था। इस आतंकी हमले में करीब तीन हजार लोगों की मौत हुई थी।

Donald Trump US President Donald Trump coronavirus
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned