बांध टूटने से उज्बेकिस्तान और कजाकिस्तान के 26 गांव डूबे, 75 हजार लोगों को सुरक्षित निकाला

-कोरोना ( Coronavirus ) काल के बीच प्रकृति भी अपना कहर बरपा रही है। उज़्बेकिस्तान और कजाकिस्तान ( Flood in Kazakhstan Uzbekistan ) की सीमा के पास अचानक बांध टूट जाने से कई गांवों में बाढ़ के हालात बन गए।
-आनन-आफन में गांवों से करीब 75 हजार से ज्यादा लोगों को बाहर निकाला गया।

कोरोना ( coronavirus ) काल के बीच प्रकृति भी अपना कहर बरपा रही है। उज़्बेकिस्तान और कजाकिस्तान ( Flood in Kazakhstan Uzbekistan ) की सीमा के पास अचानक बांध टूट जाने से कई गांवों में बाढ़ के हालात बन गए। आनन-आफन में गांवों से करीब 75 हजार से ज्यादा लोगों को बाहर निकाला गया। nypost.com के मुताबिक, उज्बेकिस्तान और कजाकिस्तान की सीमा के पास सिर दरिया नदी है, जो दोनों देशों के बीच बहती है। शनिवार को अचानक बांध टूट गया। जिसके कारण नदी का पानी गांवों की तरफ बढ़ने लगा। सूचना मिलते ही लोगों में हड़ंकप मच गया। बाद में राहत बचाव का कार्य शुरू किया गया।

NWS की चेतावनी, अमेरिका के कई राज्यों में मंडरा रहा भयंकर तूफान का खतरा

अधिकारियों ने बताया कि उज्बेकिस्तान के 22 गांवों के लगभग 70,000 और कजाकिस्तान के चार गांवों के 5,400 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा गया। हालांकि, अभी तक गांवों में नुकसान का आकलन नहीं किया गया है। लेकिन, बताया जा रहा है कि पानी गांवों के अंदर तक घुसा है। ऐसे में काफी नुकसान होने की आशंका जताई जा रही है। फिलहाल बांध की मरम्मत के लिए बड़ी संख्या में मजदूरों को बुलाया गया है।

गांवों में पानी ही पानी
स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पानी का बहाव तेज होने के कारण गांवों में बने सैकड़ों घर इसकी चपेट में आए है। हालांकि, राहत की बात रही कि समय रहते लोगों को बाहर निकाल लिया गया।

coronavirus
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned